विधायक ऋतु खण्डूरी भूषण ने स्वामित्व योजना के तहत यमकेश्वर के 28 परिवारों को प्रोपर्टी कार्ड वितरित किये।

आज यमकेश्वर विधायक ऋतु खण्डूरी भूषण ने स्वामित्व योजना के तहत यमकेश्वर के 28 परिवारों को प्रोपर्टी कार्ड वितरित किये।
इस अवसर पर यमकेश्वर विधायक ऋतु खण्डूरी ने कहा कि इस योजना से ग्रामीणों को अपनी भूमि के स्वामित्व के कार्ड मिलेंगे जिससे वह भविष्य में बैंक से लोन या अन्य कार्यो को आसनी से कर लेंगे। यमकेश्वर के ग्राम जुड़ा, मराल, मौन भला, मौन तल्ला, पुंडरासु में स्वामित्व योजना के तहत भूमि सर्वेक्षण के कार्य प्रथम चरण में हुआ, जिसके तहत ग्रामीणों को आज ऋतु खंडूरी भूषण ने ग्रामीणों को प्रोपर्टी के कार्ड दिये।
इसी के साथ पत्रकार वार्ता मे उन्होंने कृषि बिल के बारे जानकारी दी और कहा कि कृषि बिल कितना उपयोगी अब किशान अपनी फसल कही भी बेच सकेगा अपने मनमुताबिक दामो पर बेच सकेंगे, ओर अब बिचोलिये इस बिल से खत्म हो जाएंगे किशान ही अपनी फसल को मन मुताबिक दामो पर फसल बेचेगा, ओर मोदी सरकार से MSP खत्म नही की है। कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सरलीकरण) ,क़ानून 2020 और कृषक (सशक्तिकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार

– ये तीनों क़ानून ऐतिहासिक हैं । इनके लिए प्रधानमंत्री जी को हार्दिक धन्यवाद।
– कांग्रेस द्वारा इन विधेयकों का विरोध करने से उसका जन विरोधी और किसान विरोधी चेहरा एक बार फिर बेनक़ाब हुआ है।
– यह कांग्रेस का चरित्र बन गया है कि वह स्वयं जन हित के और समाज हित के काम नहीं करती और जब कोई अन्य जनता के हित में कार्य करता है तो वह उसका पूरी ताक़त से विरोध करती है।
– कांग्रेस नेता नहीं चाहते कि देश का किसान व आम जन सशक्त हो। कांग्रेस नेताओं की रुचि उन्ही कामों में रहती है जिनमें उनका अपना लाभ हो । जिस पार्टी के सबसे बड़े नेता प्रधानमंत्री राहत कोष का पैसा अपने लिए निकाल लें और अपने लिए चीन से भी पैसा ले लें उनसे क्या उम्मीद कर सकते हैं।
– कृषि सम्बन्धी क़ानूनों का कांग्रेस द्वारा विरोध उसके दोहरे चेहरे को प्रकट करता है । कांग्रेस ने पिछले लोक सभा चुनाव में अपने घोषणा पत्र में इनका वायदा किया था । लेकिन अब जब मोदी जी ने वही काम कर दिया तो कांग्रेस विरोध में उतर आई।
– इससे साफ़ है कि कांग्रेस किसानों की विरोधी है व बिचौलियों के साथ खड़ी है।
– ये क़ानूनकिसानों के हित के लिए हैं । इससे उनकी आमदनी बढ़ेगी और वे बिचौलियों के मकड़जाल से मुक्त होंगे।
………………………….
भाजपा उत्तराखंड किसान मोर्चा के माध्यम से किसानों को जागरुक बनाने , उन्हें इन बिलों के लाभ की जानकारी देने व कांग्रेस व अन्य विरोधियों का पर्दाफ़ाश करने के लिए अभियान चलाया जा रहा है ।
……………………….
– हम किसानों को उनके बीच बैठ कर बताएँगे कि अब किसानों को अपनी उपज कहीं भी बेचने का अधिकार रहेगा। इससे उन पर बंधन समाप्त होगा और वे बेहतर विकल्प चुन सकेंगे।
– MSP भी जारी रहेगी । यदि किसान चाहेगा तो वह इसके तहत उपज बेच सकेगा।मोदी जी ने MSP भी घोषित कर दी है जो स्वामीनाथन रिपोर्ट से भी अधिक है।
– इस तरह किसान के लाभ के दो दरवाज़े खुल गए हैं और वह भी बिना दबाव के।
– सरकार की ख़रीद भी जारी रहेगी। मोदी जी की सरकार के समय कांग्रेस शासन की तुलना में कई गुना अधिक ख़रीद हुई।
– कांग्रेस ने स्वामीनाथन रिपोर्ट जो उनके समय आ गई थी को लागू नहीं किया जबकि मोदी जी ने लागू कर दिखाया । रिपोर्ट में मुख्य बात किसान को उसकी लागत व उसके साथ पचास प्रतिशत और जोड़ कर मूल्य निर्धारित करने की बात कही गई।
– कांट्रैक्ट फ़ार्मिंग सम्बन्धी बिल में किसान के हित में व्यवस्था की गई है और वह दूसरे पक्ष के शोषण से बचेगा। किसान का भूमि पर स्वामित्व यथावत बना रहेगा। कांट्रेक्ट फ़ार्मिंग आज भी हो रही है पर कोई क़ानून न होने से किसान का शोषण होता है। अब क़ानून आने से किसान के हितों की रक्षा होगी।
इस अवसर पर जिला उपाद्यक्ष विक्रम सिंह रौथाण, अश्वनी गुप्ता विधायक प्रतिनिधि , मीडिया प्रभारी अलकेश कुकरेती, एसडीम मनीष, यमकेश्वर तहसीलदार , विजेंद्र बिष्ठ, प्रीतम राणा, देवेंद्र, मनीष राजपूत, विनिता नॉटियाल, राजू भट्ट सहित काफी लोग थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *