होनहार थी अंकिता भंडारी, अधूरी रह गई इच्छा, माता-पिता के लिए बनाना चाहती थी दो कमरों का घर

Spread the love

अंकिता हत्याकांड (Ankita murder case) में रोज नए नए खुलासे हो रहे हैं. पूरा उत्तराखंड अंकिता को न्याय दिलाने के लिए सड़कों पर उतर आया है. उत्तराखंड की ये बेटी होनहार थी. पढ़ाई में अव्वल रहने वाली अंकिता का सपना था कि वो अपने माता-पिता के लिए नया घर बनाए.
अफसोस अंकिता की ये हसरत पूरी नहीं हो सकी.

पौड़ी: स्कूली समय से ही होनहार छात्रा रही अंकिता भंडारी (Ankita Bhandari murder case) का सपना केवल अपने माता-पिता व भाई के लिए ही समर्पित था. अंकिता का सपना गांव में ही दो कमरों का एक छोटा सा घर बनाने का था, जो कि सपना बनकर ही रह गया. पौड़ी ब्लॉक के डोभ श्रीकोट कस्बे के एक छोटे से गांव की रहने वाली अंकिता भंडारी अपने माता-पिता के लिए गांव में ही एक छोटा सा नया घर (Ankita Bhandari wanted to build a new house) बनाना चाह रही थी. अंकिता की इस बात का माता-पिता को बेहद अफसोस है कि अंकिता का सपना पूरा नहीं हो सका. यह बात अंकिता के माता पिता ने कही.

भंडारी दंपति (Ankita Bhandari Parents) ने बताया कि बेटी अपने पैतृक गांव में सपनों का घर बनाना चाह रही थी. इसके लिए अंकिता से इसी साल के जनवरी महीने में घर के पीछे वाली जगह पर पत्थर भी निकलवाए थे. डोभ श्रीकोट के जिस पैतृक घर में अंकिता रहती थी, वह घर पटाल व मिट्टी का बना है, जो कि उनके दादा-परदादा के जमाने का है. खेती बाड़ी व दूध बेचकर घर की आजीविका चलाने वाले भंडारी दंपति के लिए घर बनाना किसी चुनौती से कम नहीं है. लेकिन होनहार अंकिता के लिए यह काम बड़ा नहीं था. पौड़ी से करीब 88 फीसदी नंबरों से इंटरमीडिएट करने के बाद अंकिता ने देहरादून से होटल मैनेजमेंट का कोर्स (hotel management course from dehradun) किया था. इसके बाद वह वनंत्रा रिजॉर्ट में बतौर रिसेप्शनिस्ट कार्यरत थी.

अधूरी रह गई अंकिता भंडारी की इच्छा

लेकिन होनी को कुछ और ही मंजूर था. वहीं अंकिता की मां अब अपने इकलौते बेटे अजय को घर से बाहर भेजने में भी कतरा रही है. वहीं 7 दिन बाद घर पहुंचे अंकिता के पिता को देखकर भी उनके आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहे. अंकिता की मां की नजरें अब केवल आरोपियों को सजा दिलाने पर टिकी हैं. अंकिता की मां की एक ही इच्छा रह गई है कि आरोपी किसी भी सूरत में बचने ना पायें. मां ने तो पूर्व सीएम हरीश रावत (Former CM Harish Rawat) से यह तक कह दिया कि पहले तो आरोपियों को फांसी की सजा मिले नहीं तो हमारे पूरे परिवार को ही मार दो. वहीं पिता ने आरोपी पुलकित आर्य के पिता विनोद आर्य को भी हिरासत में लेने की मांग उठाई. कहा कि रसूखदार आर्य से उनके परिवार की सुरक्षा खतरे में है.

अंकिता भंडारी का पैतृक घर.

बता दें कि अंकिता भंडारी हत्याकांड (Ankita Bhandari murder) में पुलिस बड़ी कार्रवाई करने जा रही है. इस कांड के मुख्य आरोपी पुलकित आर्य पर पुलिस गैंगस्टर एक्ट में मुकदमा दर्ज करने की तैयारी कर रही (register case under Gangster Act) है. पुलकित आर्य (main accused in Ankita Bhandari murder) समेत तीन आरोपियों पर अभी अंकिता भंडारी की हत्या के मामले में धारा 302 और 201 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है

Leave a Reply

Your email address will not be published.