कुंभ 2021: कोरोना टेस्ट रिपोर्ट के बाद ही स्नान कर सकेंगे श्रद्धालु

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कुम्भ मेलाधिकारी और हरिद्वार के डीएम व एसएसपी से कोविड-19 के दृष्टिगत आगामी कुम्भ मेले में स्वास्थ्य एवं सुरक्षा संबंधी व्यवस्थाओं की तैयारियो के बारे में जानकारी ली।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कुम्भ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था, इन्ट्री प्वाइंट पर थरमल स्क्रीनिंग के साथ ही एटीजन टेस्टिंग की व्यवस्था पर ध्यान दिया जाए। ऐसी व्यवस्था बनाई जाए कि श्रद्धालु कोविड टेस्ट के बाद ही कुम्भ स्नान के लिए आए। साथ ही परिस्थिति के अनुकूल यथासमय एडवाइजरी जारी करने की व्यवस्था की जाए।

उन्होंने आश्रमों के संचालकों और संत-महात्माओं के माध्यम से भी जनजागरूकता में मदद लेने को कहा। उन्होंने कहा कि स्वयं सहायता समूहो के माध्यम से मास्क तैयार करने की व्यवस्था पर ध्यान दिया जाय। उन्होंने हरिद्वार में बनने वाले 1000 बेड वाले कोविड हास्पिटल के निर्माण मे तेजी लाने के साथ ही हरिद्वार के मेडिकल कालेजों एवं अस्पतालों में भी इससे संबंधी इलाज की प्रभावी व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुम्भ मेले में श्रद्धालुओं की संख्या के नियंत्रण की कार्ययोजना बनाई जानी चाहिए। उन्होंने पुलिस महानिदेशक से भीड नियन्त्रण आदि के लिए कन्टिजेंट प्लान तैयार करने को कहा। उन्होंने कहा कि सभी एंट्री प्वाइंट पर मेडिकल सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।

बैठक में सचिव स्वास्थ्य अमित नेगी ने इस सम्बन्ध में की जाने वाली आवश्यक व्यवस्थाओं की कार्ययोजना उपलब्ध करने की अपेक्षा मेलाधिकारी एवं जिलाधिकारी हरिद्वार से की। पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने कहा कि कुम्भ मेले से संबंधित सुरक्षा व्यवस्था क्राउड मेनेजमेंट आदि की कार्ययोजना तैयार की जा रही है।
बैठक में मुख्य सचिव ओम प्रकाश, सचिव नीतेश झा, शैलेश बगोली, प्रभारी सचिव डॉ पंकज कुमार पाण्डेय, एसए मुरूगेशन, विशेष सचिव मुख्यमंत्री डा. पराग मधुकर धकाते सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *