हथियारबंद बदमाशों ने ज्वेलर्स की दुकान से 10 करोड़ के जेवरात की लूट कर हुए फरार

दरभंगा। बिहार के दरभंगा जिले में बेखौफ हथियारबंद बदमाशों ने एक ज्वैलर्स की दुकान से दस करोड़ मूल्य के सोने के जेवरात लूट लिये और फायरिंग करते  हुये बीच बाजार से होते हुए फरार हो गये। सुबह साढ़े दस बजे हुई इस वारदात से वहाँ दहशत फैल गई है। खास बात यह है कि लूट की यह घटना भाजपा विधायक के निवास से मात्र दो सौ मीटर की दूरी पर हुई है। अभी लूटे गये जेवरात की कीमत का आंकलन किया जा रहा है। प्रारंभिक सूचना के अनुसार लूटे गये जेवरात की कीमत दस करोड़ रुपये बताई गई है।
https://youtu.be/4VeuB2bSlXw

ज्वैलर्स  संतोष लाठ की दुकान में यह वारदात हुई है।  उधर लूट की इस वारदात की सूचना मिलते ही उच्च पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गये। मौके पर जाकर एसएसपी बाबू राम और सिटी एसपी अशोक प्रसाद  मामले की छानबीन की। वहीं भाजपा विधायक संजय सरावगी ने कहा कि अपराधियों में पुलिस का भय कम हो गया है।

घटनास्थल का मोका मुआयना करने के बाद एसएसपी बाबूराम ने जानकारी दी कि पांच सशस्त्र बदमाशों ने सोने-चांदी की दुकान अलंकार ज्वैलर्स  में घुुसे और  सोना एवं आभूषण लूटकर फरार हो गये। जिस समय यह लूट की वारदात हुई उस वक्त दुकान खुले हुये आधा घंंटा ही हुआ था। उन्होंने कहा कि  दुकान में लगे सीसीटीवी के फुटेज के आधार पर लुटेरों की पहचान कर ली गई है और जल्द ही उसकी गिरफ्तारी कर ली जाएगी। घटना को लेकर जिले की सीमा को सील कर दिया गया है एवं एक-एक वाहनों की जांच की जा ही रही है। लूट की संपत्ति का आकलन अभी नहीं किया जा सका है। मौके से पांच खोखा बरामद किया गया है।

लूट कांड के शिकार ज्वैलर्स संतोष लाठ के मुताबिक  हथियारबंद बदमाशों ने दुकान के अंदर दो राउंड फायरिंग की। लुटेरों ने दुकान के कर्मचारियों से सोने के जेवर सौंपने के लिए कहा और अलार्म नहीं बजाने की चेतावनी दी। ज्वैलर्स ने जब बदमाशों को रोकने की कोशिश की तो उन पर पिस्तौल के बट से हमला किया गया और सहयोग नहीं करने पर कर्मचारियों और उन्हें मारने की धमकी दी। वहीं स्थानीय लोगों ने बताया कि लुटेरे वारदात को अंजाम देने के बाद दुकान के बाहर इकट्ठा हुई भीड़ को डराने के लिए हवाई फायरिंग करते हुए फरार हो गए।

पुलिस अधिकारियों ने कहा कि बदमाशों ने इस वारदात को अंजाम देने से पहले दुकान सहित पूरे इलाके की रेकी की थी। बाजार में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को पुलिस खंगाल रही है। फॉरेंसिंक और एक डॉग स्क्वायड टीम भी मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल में जुट गई है। इस मामले की जांच के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है। अतिरिक्त महानिदेशक (एडीजी) (मुख्यालय) जितेंद्र कुमार ने कहा कि एसआईटी टीम में दस से अधिक पुलिस अधिकारियों को शामिल किया गया है, जो आसपास के जिलों में छापेमारी कर रहे हैं

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *