*सेना के फर्जी दस्तावेज बना विदेश में नौकरी लगाने वाले गिरोह का पर्दाफाश,भूतपूर्व जवान समेत 2 अन्य गिरफ्तार*

*अर्जुन सिंह भंडारी*
देहरादून-:जनपद देहरादून में कल एसटीएफ व आर्मी इंटेलिजेंस ने बड़ी कार्यवाही करते हुए सेना के फर्जी दस्तावेज बना लोगों को नौकरी के लिए विदेश भेजने के नाम पर फर्जीवाड़ा करने वाले तीन लोगों को मोथरोवाला क्षेत्र से गिरफ्तार करने में सफलता पाई है।पकड़े गए अभियुक्तों में से एक सेना में रह चुका है जिसके पास से पुलिस ने सेना की20 मोहरे व सेना की 90 पुस्तिका बरामद की है।

एसटीएफ प्रभारी के अनुसार उन्हें विश्वसनीय सूत्रों से देहरादून में कुछ लोगों द्वारा फर्जी रूप स सेना से संबंधित दस्तावेज फर्जी तैयार कर लोगों को विदेश में नौकरियां दिलवाने के नाम पर पैसे वसूलने की जानकारी मिली। इस जानकारी की सूचना पर एसटीएफ द्वारा निरीक्षक सन्दीप नेगी के नेतृत्व में उप निरीक्षक यादवेन्द्र बाजवा एवं आर्मी इन्टेलीजेन्स की एक संयुक्त टीम द्वारा छानबीन कर सूचना एकत्रित की गई। इसी क्रम में एसटीएफ को दुधली रोड, मोथरोवाला निवासी विक्की थापा द्वारा किसी व्यक्ति के फर्जी दस्तावेज बनवाकर विदेश भेजे जाने की जानकारी प्राप्त हुई।

इस सूचना के आधार पर एसटीएफ एवं आर्मी इन्टेलीजेन्स की संयुक्त टीम द्वारा दूधलीरोड, मोथरोवाला स्थित इन्द्रपुरी फार्म के पास से विक्की थापा पुत्र कुमार बहादुर थापा, दूधली ग्राम बड़कली, थाना क्लेमनटाउन देहरादून को गिरफ्तार गया गया। एसटीएफ द्वारा विक्की के पास से सेना से सम्बन्धित कुछ दस्तावेज बरामद हुए। टीम द्वारा पूछताछ में विक्की ने बताया कि जोहड़ी गाँव में रघुवीर सिंह नाम के एक व्यक्ति है जो इसी प्रकार से सेना के फर्जी दस्तावेज बनाकर लोगो को विदेश भिजवाने का काम करता है तथा इसके एवज में लोगों से भारी धन वसूलता है। इस सूचना पर एसटीएफ टीम द्वारा गिरफ्तार किये गये व्यक्ति विक्की की निशानदेही पर थाना राजपुर क्षेत्र के जोहड़ी गांव में रघुवीर सिंह पुत्र बख्तावर सिंह, निवासी जोहड़ी थाना राजपुर, देहरादून के घर पर गये तथा उससे पूछ-ताछ की गई । रघुवीर के घर की तलाशी लेने पर एसटीएफ व आर्मी इंटेलिजेंस टीम द्वारा रघुवीर सिंह के घर के एक कमरे में रखे बैड के अन्दर से सेना से सम्बन्धित कुछ दस्तावेज, 20 मोहरे व 90 सेना की पुस्तिका जिनमें से पुस्तकें 44 भरी हुई थी, बरामद की गई ।

पुलिस द्वारा पूछताछ में रघुवीर सिंह ने बताया कि उसके द्वारा सेना के यह दस्तावेज बंजारावाला स्थित ओम जय श्री प्रिंट एण्ड स्टेशनरी नाम की प्रिन्टिंग प्रेस संचालक भैरवदत्त कोटनाला द्वारा तैयार कराये जाते हैं।अभियुक्तगण द्वारा सेना के फर्जी दस्तावेज तैयार कर अब तक लगभग 100 से अधिक लोगों को विदेश भेजा जा चुका है। इस सम्बन्ध में एसटीएफ व आर्मी इन्टेलीजेन्स द्वारा अभी तक विदेश भेजे गए लोगों व गिरफ्तार अभियुक्तों के बैंक खातों के सम्बन्ध में जानकारी संकलित की जा रही है। उक्त के अतिरिक्त इन व्यक्तियों का किसी राष्ट्रविरोधी व आतंकवादी संगठनों से सम्बन्ध होने के बारे में भी गहनता से जाँच की जा रही है। इन व्यक्तियों द्वारा फर्जी पासपोर्ट बनाये जाने की बात भी प्रकाश में आई है जिसके सम्बन्ध में भी जाँच की जा रही है। पुलिस को अभियुक्तों से पूछताछ में कुछ अन्य प्लेसमेंट एजेंसियों के नाम भी मालूम चले है, जिनके सम्बन्ध में जानकारी की जा रही है।

*ऐसे करते थे फर्जीवाड़ा*
गिरफ्तार किये गये गये तीनों अभियुक्तो से पूछताछ के दौरान उनके द्वारा बताया गया कि, उनके द्वारा लागों को सेना का रिटार्यड व्यक्ति बनाकर व्यक्तियों के सेना के फर्जी दस्तावेज तैयार कर उनको अफगानिस्तान, पाकिस्तान, दुबई व इराक आदि देशों में नौकरी दिलवाने के नाम पर मोटी रकम वसूल की जाती थी। गिरफ्तार किया गया अभियुक्त रघुवीर सिंह पाल सेना का रिटार्यड व्यक्ति है तथा ग्राम जोहड़ी का वर्ष 2008 से 2013 तक उप प्रधान भी रह चुका है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *