मशहूर गायक भूपिंदर सिंह का निधन, 82 साल की उम्र में दुनिया को कह दिया अलविदा .

Spread the love

प्रसिध्द ग़ज़ल गायक गायक भूपेंद्र सिंह ने दिल ढूंढ़ता है फिर वही, एक अकेला इस शहर’, ‘किसी नजर को तेरा इंतजार आज भी है’, ‘होके मजबूर मुझे उसने भुलाया होगा’ जैसे गानों से  श्रोताओं को अपना मुरीद बना लिया था। उनके निधन से संगीत जगत को अपूर्णीय क्षति हुई है।  

हिंदी सिनेमा के दिग्गज मशहूर गायक भूपिंदर सिंह की सांसों में सोमवार की शाम हमेशा के लिए इस दुनिया को अलविदा कह दिया. उनकी उम्र 82 साल की थी. भूपिंदर लंबे समय से कोलन कैंसर से पीड़ित थे. भूपिंदर बेहद भावुक इंसान थे. छोटी सी बात उन्हें दुख दे जाती थी. इंडस्ट्री में काम के लिए किसी के आगे-पीछे करना उनकी फितरत में नहीं था. एक इंटरव्यू में भूपिंदर ने बताया कि हमनें गोल्डन इरा का वक्त देखा है. इस वक्त मुंबई में बहुत काम था. कई जगह के संगीतकार यहां आते थे. मैं बहुत खुशकिस्मत हूं कि मैंने गोल्डन इरा का ये वक्त देखा है।

 भूपेंद्र ने पने करियर की शुरुआत  आकाशवाणी में गायन की प्रस्तुति करके दी थी। भूपिंदर ग़ज़ल गायिकी के अलावा वायलिन और गिटार बजाने में भी महारत रखते थे । संगीतकार मदन मोहन ने भूपेंद्र सिंह को फिल्म ‘हकीकत’ में मौका दिया, इसमें उन्होंने मोहम्मद रफी के साथ जुगलबंदी में  ‘होके मजबूर मुझे उसने भुलाया होगा’ गाने में अपनी गायिकी का हुनर दिखाया था। यह गाना उस दौर का सुपरहिट गीत साबित हुआ था।  हालांकि  भूपेंद्र को असल पहचान गुलज़ारके लिखे  गाने ‘वो जो शहर था’ से मिली।

भूपिंदर सिंह ने बताया कि पहले गाने में इतनी कुश्ती नहीं लड़नी पड़ती थी. कोई मशक्कत नहीं करनी पड़ती थी. सब काम आराम से होता था. आनंद था उसमें

भूपिंदर सिंह ने कहा कि पहले के गानों में एक क्वालिटी थी. शांति थी. प्यार था. यही वजह है कि पुराने गाने आज भी सुने जाते हैं.

दिल ढूँढता है फिर वही फ़ुरसत के रात दिन बैठे रहे तसव्वुर-ए-जानाँ किये हुए दिल ढूँढता है फिर वही फ़ुरसत के रात दिन… ये गाना बेहद खूबसूरत है

अपनी पत्नी के बारे में बात करते हुए एक इंटरव्यू में भूपिंदर ने कहा कि मिताली (पत्नी) को पहली बार उन्होंने टीवी पर सुना था. एक अलग सी आवाज़ थी. मुझे उनका गाने का अंदाज बहुत अच्छा लगा.

फिर मिताली से मुलाकातें हुईं और आहिस्ता आहिस्ता ये मुलाकातें प्यार में बदल गईं. हमारी शादी हुई. मैं भी स्टूडियो में गाने करके थक गया था. फिर मिताली को लोग रिक्वेस्ट करने लगे तो मैंने स्टेज पर उनके साथ गाना शुरू किया. भूपिंदर सिंह ने बॉलीवुड के कई लीजेंड गायकों के साथ काम किया. उन्होंने मोहम्मद रफ़ी, लता मंगेशकर, आशा भोंसले जैसे गायकों के साथ कई सुपरहिट गाने गाये. भूपिंदर ने अपनी मशहूर गायक पत्नी मिताली सिंह के साथ मिलकर कई लोकप्रिय गाने गाये. पति पत्नी की जोड़ी खूब मशहूर रही.

उनके कुछ पॉपुलर गानों में’होके मजबूर मुझे, ‘उसे बुलाया होगा’, ‘दिल ढूंढता है’, ‘दुकी पे दुकी हो या सत्ते पे सत्ता’, और कई अन्य सॉन्ग शामिल हैं

बताया जा रहा है कि भूपेंदर सिंह को कोलन कैंसर था, लेकिन सभी टेस्ट इसलिए नहीं हो पाए, क्योंकि उन्हें कोरोना वायरस संक्रमण हो गया था. उनके निधन की वजह में एक वजह कोरोना संक्रमण भी बताया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.