हरिद्वार: प्रधान चुने जाने के एक दिन बाद बबली देवी गिरफ्तार, चुनाव से पहले जहरीली शराब पिलाने से 11 लोगो की हुई थी मौत

Spread the love

हरिद्वार:  उत्तराखंड (Uttarakhand) में हरिद्वार (Haridwar) जिले के शिवनगर ग्राम प्रधान पद पर विजय घोषित किए जाने के एक दिन बाद बबली देवी को जहरीली शराब मामले (poisonous liquor case) में पुलिस ने बृहस्पतिवार को गिरफ्तार कर लिया.

जिले में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान मतदाताओं को कथित रूप से जहरीली शराब पिलाने के मामले में देवी फरार चल रही थीं.

जहरीली शराब कांड में 11 व्यक्तियों की जान चली गयी थी. पथरी के थाना प्रभारी पवन डिमरी ने बताया कि पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर देवी को भी गिरफ्तार कर लिया. इस मामले में देवी के पति विजेंद्र और देवर को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है.

1 वोट से जीतीं चुनाव, घर से मिला था शराब बनाने का सामान

देवी पथरी थाना क्षेत्र के शिवनगर ग्राम प्रधान पद पर एक वोट से विजयी घोषित की गयीं हैं. पंचायत चुनाव के दौरान पथरी थाना क्षेत्र में 10 सितंबर को जहरीली शराब पीने से 11 लोगों की मौत हो गयी थी और इसका आरोप प्रधान पद का चुनाव लड़ रही देवी और उनके पति पर लगा था . पुलिस ने उनके घर से जहरीली शराब और शराब बनाने का सामान भी बरामद किया था जबकि देवी फरार हो गयी थीं .

पुलिस उसकी तलाश में संभावित स्थानों पर दबिश दे रही है। आइपीएस रेखा यादव के नेतृत्व में गठित एसआईटी शराब कांड की जांच कर रही है।ग्यारह सितंबर को एसएसपी डॉ योगेन्द्र सिंह रावत ने पथरी थाने में शराब कांड का खुलासा किया था।
मुकदमे में बिजेंद्र व उसकी पत्नी बबली तथा उसके भाई नरेश को आरोपी बनाया है। पुलिस मुख्य आरोपी बिजेंद्र को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। उसके बाद से दोनों आरोपी बबली व नरेश फरार चल रहे थे। बुधवार को आरोपी बबली देवी ग्राम प्रधान निर्वाचित हुई थी।
बृहस्पतिवार को बबली जैसे ही गांव फूलगढ़ में पहुंची। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। थानाध्यक्ष पवन डिमरी का कहना है कि शराब कांड की फरार आरोपी बबली देवी को गिरफ्तार किया है। उसे कोर्ट में पेश किया जा रहा है। फरार नरेश की तलाश में संभावित स्थानों पर दबिश दी जा रही है। उसे जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।

मतगणना में बबली ने अपने प्रतिद्वंद्वी प्रत्याशी स्वाति से जीत दर्ज की। बबली को 855 और प्रतिद्वंद्वी स्वाती को 848 मत मिले लेकिन स्वाति ने री-काउंटिंग की अपील की। इस पर प्रशासन ने दोबारा मतगणना कराई। री-काउंटिंग में बबली को 859 वोट मिले, जबकि प्रतिद्वंद्वी स्वाती को 858 वोट मिले। बबली एक वोट से स्वाति को हराकर जीत गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.