MP NEWS ! उज्जैन जिला कोर्ट में जिला जज आर के वाणी के खिलाफ नारेबाजी से मचा हंगामा, रिपोर्ट घनश्याम पटेल इंदौर

Spread the love

एस एस न्यूज /बिग न्यूज /न्यूज हेड घनश्याम पटेल

 

उज्जैन जिला कोर्ट में आज उस समय अचानक हंगामा मच गया जब अचानक चंद वकीलों ने जिला जज आर के वाणी के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी।
हमारे कोर्ट सूत्रों के अनुसार कोर्ट में फर्जी रसीद मामले में उज्जैन के एक दबंग जूनियर जज कुषाग्र अग्रवाल द्वारा की गई कार्यवाही पर हाई कोर्ट के निर्देश पर वकील करणसिंह एवम अन्य दो के खिलाफ माधवनगर थाने द्वारा धोखाधड़ी एवम जालसाजी मामले में एफ आई आर दर्ज की है इसी मामले में कुछ वकील जिला जज महोदय से मिलने उनकी कोर्ट गए । जिला जज महोदय द्वारा प्रकरण की सुनवाई में व्यस्त होने से 2 बजे मिलने आने का कहा इसीसे नाराज हो चंद वकीलों ने नारे बाजी शुरू कर दी।इस संबंध में सचिव मंडल अभिभाषक संघ उज्जैन का कहना है की हम लोग सिर्फ वकील के खिलाफ दर्ज मामले में जिला जज महोदय से मिलने तथा जांच की मांग करने गए थे जो की कोर्ट एवम वकील से संबंधित मामला था किंतु जिला जज महोदय द्वारा 2 बजे मिलने का कहने पर वकील लोग उत्तेजित हो गए और कोर्ट परिसर में ही नारे बाजी शुरू कर दी।
उल्लेखनीय है की इस मामले को पकड़ कर पूरी दमदारी से न्यायिक मजिस्ट्रेट कुशाग्र अग्रवाल द्वारा मामला उठाया गया है उक्त जज की जितनी भी प्रशंसा की जाय वो कम है उक्त जज को सार्वजनिक रूप से पुरुस्कृत किया जाना चाहिए ताकि कोर्ट में धर्मेंद्र शर्मा जैसे अपराधिक चरित्र धारी वकीलों द्वारा जजेज से अभद्र व्यवहार एवम डरा धमका कर मनमाने फैसले कराने के असफल प्रयासों पर रोक लगे ।हालांकि 5 जजेज ने एडवोकेट धर्मेंद्र शर्मा द्वारा अभद्र व्यवहार की प्रोसीडिंग्स तक की है ,पूर्व जिला जज कुलकर्णी जी द्वारा 2500 का अर्थ दंड भी लगाया जा चुका है बार काउंसिल ऑफ इंडिया अनुशासन समिति द्वारा सनद सस्पेंड की जा चुकी है किंतु गुंडे धर्मेंद्र शर्मा का उचित एवम माकूल इलाज तो दबंग जिला जज आर के वाणी द्वारा अपनी उज्जैन जिला जज की पहली पोस्टिंग के दौरान किया गया था। हाई कोर्ट इंदौर द्वारा सौंपी गई ज्यूडिशियल इंक्वायरी रिपोर्ट में श्री वाणी ने ही धर्मेंद्र शर्मा एवम कई अन्य को न्यायालय से धोखाधड़ी एवम अन्य कई अपराधो का दोषी सिद्ध किया था जिसके आधार पट कुख्यात हो चुके वकील धर्मेंद्र शर्मा पर इंदौर एवम जबलपुर हाई कोर्ट में क्रिमिनल कंटेंप्ट ऑफ कोर्ट के दो मामले दर्ज हो चल रहे है एवम उसी जांच रिपोर्ट के आधार पर इंदौर CJM द्वारा धर्मेंद्र शर्मा सहित कई पर धारा 420 आदि धाराओं में इंदौर के एम जी रोड थाने पर एफ आई आर दर्ज हो उसमे गिरफ्तार हो धर्मेंद्र शर्मा 20 दिन से अधिक समय इंदौर जेल की हवा खा चुका है।इसके पूर्व 2009 में धर्मेंद्र शर्मा उज्जैन की भैरव गड़ जेल की भी शोभा बड़ा चुका है। जज एवम वकील देश में न्यायदान की पवित्र परंपरा के एक दूसरे के पर्याय है किंतु गुंडागर्दी एवम भीड़ के दम पर न्याय का अपहरण करने के कुप्रयास को सख्ती एवम मजबूती के साथ निपटना चाहिए।इस पूरे मामले में साहसी कदम उठाने वाले जूनियर जज की सराहना एवम उन्हे पुरुस्कृत किया जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.