टिक टोक पर हुआ था प्यार, घरवालों वालो ने शादी से किया इनकार,फिर दोनों ने ऐसा कदम उठाया कि दुनिया भी रह गई आवक

 

नालंदा. चीन से जारी तनातनी के बीच भले ही केंद्र सरकार ने टिक टॉक (Tik Tok) समेत कुल 224 चीनी एप्स (Chinise Apps Ban) पर पाबंदी लगा दी हो लेकिन इसी टिकटॉक ने बिहार के नालंदा में दो प्रेमी जोड़ों को एक कर दिया. दोनों प्रेमी जोड़े टिक-टॉक के जरिए मिले और फिर दोनों नालंदा जिला के सोहसराय स्थित एक मंदिर में शादी (Marriage) रचा ली. यह शादी पूरे शहर में चर्चा का विषय बन गई है.

दोनो के बीच टिक टॉक से हुई थी जान पहचान

दरअसल झारखंड के कतरास गढ़ की रहने वाली सुमा कुमारी और नालन्दा जिले के सलेमपुर इलाके का गोलू कुमार की पहचान टिक-टॉक के माध्यम से हुई और ये पहचान फिर प्यार में बदल गया. परिजनों को जब इन दोनों के प्यार के बारे में पता चला तो शुरुआती दौर में परिजनों ने दोनों को एक होने में रुकावट डाली.

बताया यह भी जाता है कि परिजनों द्वारा शादी से इंकार कर दिया गया था जिसके बाद दोनों प्रेमी जोड़े अपने घर से भागकर धनबाद चले गये और धनबाद रेलवे स्टेशन पर आत्महत्या करने का प्रयास कर रहे थे. इसी दौरान स्थानीय यात्रियों ने दोनों को बचाकर इसकी सूचना परिजनों को दी. परिजन भी दोनों के प्यार आगे झुक गए जिसके बाद राजी खुशी से दोनों की सोहसराय स्थित सूर्य मंदिर में शादी रचा दी गई.

इस तरह से दोनों प्रेमी जोड़ों की प्यार की जीत हुई. धोला कुआं में दोनों की हिंदू रीति रिवाज के हिसाब से मंदिर में शादी रचवा कर परिजनों को सौंप दिया गया. युवक-युवती के परिजनों ने कहा कि हम लोगों ने इस शादी के माध्यम से लोगों को दहेज मुक्त विवाह करने का संदेश दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *