शिक्षा एवं सूचना तकनीकी मंत्रालय भारत सरकार द्वारा आयोजित युवाओं के लिए कृत्रिम बुद्धिमत्ता प्रतियोगिता के पहले चरण का परिणाम घोषित

ऊखीमठ ! (लक्ष्मण सिंह नेगी) शिक्षा एवं सूचना तकनीकी मंत्रालय भारत सरकार द्वारा आयोजित युवाओं के लिए कृत्रिम बुद्धिमत्ता प्रतियोगिता के पहले चरण का परिणाम घोषित हो गया है।इस प्रोग्राम में पूरे भारत से 125 प्रतिभागियों के उत्कृष्ट आइडियाज का चयन हुआ है। उत्तरा खण्ड के रुद्रप्रयाग जनपद में विकासखण्ड ऊखीमठ के अन्तर्गत केदार घाटी के जी आई सी फाटा से मनीषा रमोला, और जी आई सी नायायणकोटी से कृतेश पुरोहित इस सूची में स्थान बनाने में कामयाब हुए हैं।

राजकीय शिक्षक संघ ऊखीमठ शाखा अध्यक्ष गजेंद्र सिंह करासी ने बताया की इन छात्रों के प्रेरक और मार्गदर्शक अध्यापक मनीष मैठाणी, सहायक अध्यापक , रा0इ0का0 फाटा ने यह प्रोग्राम लाकडाउन अवधि में मई 2020 में आरम्भ हुआ था। इस दौरान जबकि स्कूल बंद थे तो छात्रों तक पहुँच बनाना कठिन था पर फिर भी इन्होंने ब्लाक उखीमठ के विभिन्न स्कूलों के 25 छात्रों को फोन द्वारा इस प्रतियोगिता क्ष की जानकारी दी तथा वेबिनार आयोजित कर उन्हें प्रोग्राम में प्रतिभाग हेतु प्रेरित किया, हालांकि कृत्रिम बुध्दिमता पर आधारित इस प्रोग्राम को छात्रों को वेबिनार के माध्यम से समझाना कठिन था, पर इस चुनौती को स्वीकार करते हुए मनीष मैठाणी ने छात्रों को तैयार किया। इस प्रतियोगिता में राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत भारत के 25 राज्यों के 5724 शहरों से कुल 52628 छात्रों ने प्रतिभाग किया। प्रतिभागी छात्रों हेतु नेशनल ई गवर्नेस डिवीजन और शिक्षा तथा सूचना तकनीकी मन्त्रलय भारत सरकार ने इंटेल के साथ मिलकर ऑनलाइन कक्षाएं संचालित की। इसके पश्चात इन प्रतिभागी छात्रों ने संक्षिप्त वीडियो बनाकर कृत्रिम बुद्धिमता अपने विचार प्रेषित किये। राष्ट्रीय स्तर पर निर्णायकों की टीम द्वारा उत्कृष्ट विचारों का चयन कर 125 प्रतिभागियों की सूची क्ष जारी की। ये 125 छात्र दूसरे राउंड में कृत्रिम बुद्धिमता पर आधारित प्रोजेक्ट पर कार्य करेंगे।


राष्ट्रीय स्तर पर 125 छात्रों की इस सूची में स्थान पाने वाली कु0 मनीषा रमोला, राजकीय इंटर कालेज फाटा में अध्ययनरत हैं, जबकि कृतेश पुरोहित रा0इ0का0 नारायण कोटी में कक्षा 12 के छात्र हैं। मनीषा एक कृषक परिवार से है जबकि कृतेश के पिता अध्यापक हैं। इन छात्रों के दूसरे राउण्ड में स्थान पाने पर इनके मार्गदर्शक अध्यापक मनीष मैठाणी अत्यधिक उत्साहित हैं। उनका कहना है कि राष्ट्रीय स्तर पर हालांकि प्रतियोगिता कठिन है पर पूरी आशा है कि ये छात्र दूसरे राउंड में भी सफल होंगे। युवाओं के लिए कृत्रिम बुद्धिमत्ता प्रतियोगिता में दोनों विद्यालयों के छात्र – छात्र का चमन होने पर केदारनाथ विधायक मनोज रावत, पूर्व विधायक शैलारानी रावत, आश नौटियाल, क्षेत्र पंचायत प्रमुख श्वेता पाण्डेय, ज्येष्ठ प्रमुख कविता नौटियाल, कनिष्ठ प्रमुख शेलेन्द्र कोतवाल, जिला पंचायत सदस्य बबीता सजवाण, विनोद राणा, रीना बिष्ट, गणेश तिवारी, प्रधान संगठन ब्लॉक अध्यक्ष सुभाष रावत, संरक्षक सन्दीप पुष्वाण,मीडिया प्रभारी योगेन्द्र नेगी, सचिव विजयपाल नेगी, कोषाध्यक्ष हर्षवर्धन सेमवाल,खण्ड शिक्षा अधिकारी रवि कुमार प्रधानाचार्य जी आई सी नायायणकोटी देवेंद्र खत्री, फाटा विजय सिंह राणा, राजकीय शिक्षक संघ जिला अध्यक्ष आनन्द जगवाण , महामत्री पकड भटट् रघुवीर पुष्वाण, वी पी किमोठी, देवानन्द गैरोला सहित केदार घाटी के जनप्रतिनिधियों, परिजनों, शिक्षा विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों ने खुशी व्यक्त की है!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *