राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने रुड़की पहुंचकर दुष्कर्म पीड़ित माँ बेटी से की मुलाकात, लिया ये बड़ा फैसला

Spread the love

 

 

पीड़ितों के पास स्थाई आवास भी नही है

उत्तराखंड पुलिस द्वारा सभी दरिंदो को गिरफ्तार करने पर पुलिस टीम की पीठ थपथपाई

रुड़की / देहरादून :- राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने शुक्रवार को रुड़की अस्पताल पहुंचकर दुष्कर्म पीड़ित मां और उसकी छह साल की बच्ची से बातचीत की। महिला और बच्ची के पुर्नवास के लिए उन्हे नारी निकेतन भेजा जाएगा

 

पिछले शुक्रवार को देर शाम कलियर और रुड़की के बीच एक महिला और उसकी छह साल की बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने का मामला सामने आया था। पहले बाइक सवार ने महिला के साथ दुष्कर्म किया। फिर कार में सवार चार लोग महिला और उसकी पुत्री को जबरन अपने साथ लेकर गए और सामूहिक दुष्कर्म किया। मामले के पांचों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने सिविल अस्पताल पहुंचकर मां और बच्ची से बातचीत की। महिला आयोग अध्यक्ष ने बताया कि जानकारी मिली है कि महिला के पास रहने के लिए स्थाई आवास की सुविधा नहीं है। आयोग अध्यक्ष ने सीएमएस डॉ. संजय कंसल से भी मुलाकात की। डॉ. कंसल ने बताया कि बच्ची पूरी तरह से ठीक है। महिला और उसकी बच्ची के पुर्नवास के लिए आयोग अध्यक्ष ने उन्हें नारी निकेतन भेजने की बात कही। बताया कि बच्ची के भविष्य, उसकी पढ़ाई-लिखाई जरूरी है। महिला नारी निकेतन जाने को राजी है। महिला आयोग अध्यक्ष ने जिलाधिकारी हरिद्वार को पत्र लिखकर महिला और बच्ची को नारी निकेतन भेजने के लिए कार्रवाई करने को कहा है।

 

अपराधियो की पूरी हिस्ट्री

मां-बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में मामले में गिरफ्तार आरोपी देवबंद में एक शादी समारोह में आए थे। इसके बाद ये सभी रुड़की पहुंच गए और यहां बस अड्डे के पास एक बार में बैठकर शराब पी।
लौटते समय इन्होंने आरोपी महक सिंह की बाइक से मां और बेटी और जबरन उतार कर कार में डाला और दरिंदगी को अंजाम दिया। घटना का खुलासा करते हुए एसएसपी ने बताया कि, आरोपी सोनू तेजियान निवासी साल्हापुर थाना देवबंद जिला सहारनपुर के परिवार में शादी समारोह की दावत में आए थे।

कलियर मेटाडोर अड्डे के पास शराब के ठेके से बीयर खरीदी। ठेके पर भी सैल्समैन से आरोपियों की कहासुनी हुई थी। नशे में कार में बैठकर सभी सोलानी पार्क की ओर चल दिए। वहां उन्होंने महक सिंह उर्फ सोनू निवासी इमलीखेड़ा थाना कलियर की बाइक पर महिला और बच्ची को जबरन कार में डालकर ले गए और सुनसान जगह पर कार को रोका। जहां कार में बच्ची से और मां के साथ गन्ने के खेत में दुष्कर्म किया गया।

 

मां और बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म के पांच आरोपियों में से दो मुजफ्फरनगर, दो सहारनपुर और एक हरिद्वार जिले का है। एक आरोपी सहारनपुर क्षेत्र में एक किसान यूनियन का पदाधिकारी है। पुलिस ने छह दिन के अंदर मामले का खुलासा कर सभी आरोपियों को सलाखों के पीछे कर दिया है। डीआईजी, एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि, पुलिस पूछताछ में आरोपी महक सिंह ने बताया कि वहां पर एक सफेद रंग की ऑल्टो कार आयी। उसमें किसी संगठन का झंडा लगा हुआ था। कार में चार लोग बैठे थे। उन्होंने महिला और बच्ची को जबरन कार में बैठा लिया। कोर कॉलेज से मंगलौर की तरफ ले जाते हुए खेत में महिला के साथ दुष्कर्म किया।

 

बच्ची के साथ कार में दुष्कर्म किया गया। बच्ची के चीखने की आवाज सुनकर पीड़िता किसी तरह वहां पहुंची तो एक आरोपी बच्ची का मुंह दबाए हुए था। उसके बाद कार सवार वहां से फरार हो गए। जांच में पता चला कि कार राजीव उर्फ विक्की तोमर पुत्र ब्रह्मपाल निवासी ग्राम बेलड़ा, थाना भोपा मुजफ्फरनगर की है। पुलिस ने मुखबिर और सीसीटीवी कैमरों की मदद से कार को बरामद कर आरोपी विक्की तोमर को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी के साथ सुबोध पुत्र देवेंद्र कुमार निवासी गांव बेलड़ा थाना भोपा मुजफ्फरनगर, सोनू तेजियान पुत्र यशपाल सिंह और जगदीश पुत्र स्व. फूल सिंह दोनों निवासी साल्हापुर थाना देवबंद जिला सहारनपुर भी थे। पुलिस ने इन सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। विक्की तोमर सहारनपुर क्षेत्र में एक किसान संगठन का पदाधिकारी बताया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.