निलंबित RTO दिनेश पठोई सम्मान के साथ अपने पद पर बहाल, सीएम ने दी फिर पूर्व जिम्मेदारी….

Spread the love

उत्तराखंड के इतिहास में इक्का-दुक्का उदाहरण ही ऐसा मिलता है जब किसी अधिकारी को उसके सम्मान के साथ उसको वापस उसी जगह पर स्थापित कर दिया जाए जिस जगह से उन को निलंबित किया गया था । निश्चय ही यह एक अच्छा उदाहरण माना जा सकता है भारत के संविधान में भी कहा गया है कि चाहे लाख दोषी छूट जाए लेकिन एक  निर्दोष को  बगैर गलती किए सजा नहीं मिलनी चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published.