पंच केदारो में तृतीय केदार के नाम से विख्यात भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव डोली अपने शीतकालीन गद्दी स्थल मार्कडेय तीर्थ मक्कूमठ से हिमालय के लिए रवाना हो गई है! ऊखीमठ से लक्ष्मण नेगी की रिपोर्ट

Spread the love

ऊखीमठ! पंच केदारो में तृतीय केदार के नाम से विख्यात भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव डोली अपने शीतकालीन गद्दी स्थल मार्कडेय तीर्थ मक्कूमठ से हिमालय के लिए रवाना हो गई है!

सोमवार को भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव डोली प्रथम रात्रि प्रवास के लिए गाँव के मध्य भूतनाथ मन्दिर पहुंच गयी है जहाँ पर ग्रामीणो द्वारा पौराणिक परम्परा के अनुसार सादगी से नये अनाज का भोग अर्पित किया गया! प्रशासनन से मिले गाइडलाइन के अनुसार मात्र 13 तीर्थ पुरोहित व हक – हकूधारी भगवान तुगनाथ की डोली की अगुवाई कर रहे है तथा सोशल दूरी के साथ ही लांक डाउन के नियमों का सख्ती से पालन किया जा रहा है! मंगलवार को भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव डोली सुरम्य मखमली बुग्यालों से होते हुए अन्तिम रात्रि प्रवास के लिए चोपता पहुंचेगी! सोमवार को भगवान तुगनाथ के शीतकालीन गद्दी स्थल मार्कडेय तीर्थ मक्कूमठ में विद्वान आचार्य अजय मैठाणी व सतीश मैठाणी ने पंचाग पूजन के तहत, पृथ्वी, गणेश, लक्ष्मी, कुबेर, सहित तैतीस करोड़ देवी – देवताओं का आवाहन किया तथा महा रुद्रभिषेक से भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव मूर्तियों का पूजन कर आरती उतारी! लगभग 8 बजे से भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव मूर्तियों को डोली में विराजमान कर पुनः भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव डोली का विशेष श्रृंगार कर आरती उतारी! लगभग 10 बजे भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव डोली अनेक देवी – देवताओं के निशाणो के साथ अपने शीतकालीन गद्दी स्थल मार्कडेय तीर्थ की तीन परिक्रमा की तथा हिमालय के लिए रवाना हुई! भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव डोली ने पौराणिक परम्परा के अनुसार खेत – खलिहानों में सादगी से नृत्य कर प्रथम रात्रि प्रवास के लिए गाँव के मध्य भूतनाथ मन्दिर पहुंच गयी है! भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव डोली के भूतनाथ मन्दिर पहुंचने पर भगवान तुगनाथ को नये अनाज का भोग लगाकर विश्व कल्याण की कामना की गयी, भगवान तुगनाथ को नये अनाज का भोग अर्पित करने के बाद पुनः विधि विधान से भगवान तुगनाथ सहित सभी देवी – देवताओं का आवाहन किया गया : भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव डोली के साथ चल रहे विद्वान आचार्यों व हक – हकूधारियो द्वारा लांक डाउन के नियमों का सख्ती से पालन किया जा रहा है! इस मौके पर मठापति राम प्रसाद मैठाणी, प्रबन्धक प्रकाश पुरोहित, सुरेन्द्र प्रसाद मैठाणी, हरि बल्लभ मैठाणी, प्रधान विजयपाल नेगी, क्षेपस जयवीर नेगी, जीतपाल भण्डारी मौजूद थे :

Leave a Reply

Your email address will not be published.