उत्तर प्रदेश

शहनाज से बनी आरोही ,कृष्ण की भक्ति से  नाराज शौहर ने दिया तलाक़, बचपन के हिन्दू दोस्त से की शादी,

उत्तर प्रदेश के बरेली जिले से ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें सभी को हैरान कर दिया है. यहां भगवान श्री कृष्ण की भक्त रही एक मुस्लिम युवती को उसके शौहर ने तीन तलाक दे दिया. इतना ही नहीं जब युवती ने समझाना चाहा तो उसने बुरा-भला भी कहा.

बात यहीं नहीं खत्म हुई. उसके परिवार के लोग भी खिलाफ हो गए.

जब कोई सहारा न मिला तो युवती ने अपने बचपन के हिंदू दोस्त को याद किया और उसको आपबीती सुनाई. इसके बाद धीरे-धीरे नजदीकियां बढ़ने लगीं और दोस्ती प्यार में बदल गई. फिर उन्होंने फैसला किया कि शादी कर लेते हैं और युवती ने इस्लाम धर्म छोड़कर हिंदू दोस्त के साथ शादी कर ली.

शहनाज बन गई आरोही

बताया जा रहा है बरेली के थाना फरीदपुर क्षेत्र के ढकनी राजपुरा गांव की रहने वाली शहनाज का निकाह 2018 में हुआ था. वो बचपन से ही भगवान श्री कृष्ण की भक्त थी और पूजा करती थी. शहनाज के घरवाले इसका विरोध करते थे और कहते थे कि उनके धर्म में पूजा नहीं की जाती है. उसको इस्लाम धर्म के मुताबिक ही रहना होगा.

मगर, उसने किसी की नहीं सुनी और शादी के बाद भी भगवान श्री कृष्ण की भक्त रही. उधर, ससुराल में इस बात का जब पता चला तो कोहराम मच गया. उसके पति और ससुराल के लोगों ने जब पूजा-पाठ करते देखा तो हंगामा होने लगा. यह देखकर ही पति ने उसको तीन तलाक दे दिया.

दोस्त को बनाया जीवनसाथी

युवती ने जब अपनी पीड़ा की कहानी अपने बचपन के दोस्त पवन कुमार को सुनाई तो उसने सहारा दिया. इसके बाद दोस्ती धीरे-धीरे प्यार में बदल गई और दोनों ने फैसला किया वो हिंदू रीति-रिवाज से शादी करेंगे. फिर दोनों ने बरेली पहुंचकर अगस्त मुनि आश्रम जाकर हिंदू रीति रिवाज से शादी की.

ट्रेन के नीचे जान देने के लिए तैयारी

शहनाज पति और परिवार के अत्याचार की वजह से बेहद परेशान हो चुकी थी. परिवार का कोई भी सदस्य मदद करने के लिए तैयार नहीं था. इस पर उसने अपने साथी पवन को पूरी बात बताई और कहा कि ट्रेन के नीचे आकर जान दे देंगे. इसी दौरान उनकी मुलाकात एक व्यक्ति से हुई. उसने अगस्त मुनि आश्रम के बारे में बताया. यह जानकारी मिलते ही उम्मीद की किरण नजर आई और बिना देरी किए दोनों अगस्त मुनि आश्रम पहुंचे और महंत को अपनी बात बताई.

शहनाज ने बदल लिया नाम

अगस्त मुनि आश्रम में शादी करने के बाद शहनाज ने अब अपना नाम भी बदल लिया है. शहनाज ने बताया कि अब उसको आरोही के नाम से ही पुकारा जाए. विवाह से पहले आश्रम में महंत केके शंखवार ने दोनों की बात सुनी और युवती का सनातन धर्म के मुताबिक शुद्धिकरण कराया.

दोनों को है परिवार से जान का खतरा

युवती ने पुलिस प्रशासन को पत्र लिखकर सुरक्षा की गुहार लगाई है. युवती का कहना है कि उसको परिवार की ओर से जान का खतरा है. जिससे उसने शादी की है, उसे भी जान का खतरा है.

http://न्यूज़ सोर्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *