भोपाल कार्बाइड जहरीली गैस कांड के  36 साल बाद फिर विशाखापट्टनम में गैस कांड । जहरीली गैस से 8 लोगो की मौत 1000 पीड़ित हॉस्पिटल में दाखिल।

Spread the love

भोपाल कार्बाइड जहरीली गैस कांड के  36 साल बाद फिर विशाखापट्टनम में गैस कांड ।

जहरीली गैस से 8 लोगो की मौत
विशाखापट्टनम में एक पॉलीमर फेक्ट्री से गैस लीक से  हाहाकार मची हुई है ।  इस जहरीली गैस से पशु,पक्षियों, पेड़ पौधों पर इस जहर का बुरी तरह से असर पड़ा   है। कम से कम इस क्षेत्र में 1000 लोग प्रभावित हो रखे है । उक्त फैक्ट्री से 3 किलोमीटर की रेंज में प्रभावित लोगो को  हॉस्पिटल में एडमिट किया जा रहा है। रोड पर लोग बेसुद पड़े हुए है। पशु, पक्षियों पर बहुत असर हो रखा है, पेड़ पौधे भी झुलस गए है
आज सुबह एक फार्मा कंपनी के प्लांट में गैस लीक होने से एक बच्चे समेत 8 लोगों की मौत हो गई. जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (DMHO) ने इसकी पुष्टि की है. मिली जानकारी के अनुसार, विशाखापट्टनम के आर.आर. वेंकटपुरम गांव में एल.जी पॉलिमर उद्योग में रासायनिक गैस लीक हो गई

विशाखापट्टनम​: आज तड़के करीब 2:30 बजे एक फार्मा कंपनी के प्लांट में गैस लीक होने से एक बच्चे समेत 6 लोगों की मौत हो गई, जबकि 100 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है. 1000 से अधिक लोगों को अस्पताल में भर्ती किया गया है. इस गैस लीक से 3 किमी. का इलाका प्रभावित हुआ है. एहतियातन 6 गांवों को खाली करा लिया गया है. प्लांट से जो गैस लीक हुई है, उसका नाम स्टाइरीन बताया जा रहा है.
जानकारी के अनुसार, विशाखापट्टनम के आर.आर. वेंकटपुरम गांव में एल.जी पॉलिमर उद्योग में रासायनिक गैस लीक हो गई. इस कारण वहां मौजूद लोगों को आंखों में जलन और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद अस्पताल ले जाया गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस पूरी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं. उन्होंने हालात का जायजा लेने के लिए आपदा प्रबंधन की बैठक बुलाई है.

हालांकि, गैस लीकेज के असली कारण का अभी पता नहीं चल पाया है. फिलहाल मौके पर विशाखापट्टनम के जिलाधिकारी वी विनय चंद पहुंच गए हैं और हालात पर नजर बनाए हुए हैं. उनका कहना है कि दो घंटे के अंदर हालत को नियंत्रण में कर लिया गया. कुछ लोगों को सांस लेने में दिक्कत हो रही है, उन्हें ऑक्सीजन सपोर्ट दिया जा रहा है.

पीवीसी या स्टेरेने गैस का रिसाव

विशाखापट्टनम नगर निगम के कमिश्नर श्रीजना गुम्मल्ला ने कहा कि शुरुआती रिपोर्ट के अनुसार पीवीसी या स्टेरेने गैस का रिसाव हुआ है. रिसाव की शुरुआत सुबह 2.30 बजे हुई. गैस रिसाव की चपेट में आस-पास के सैकड़ों लोग आ गए और कई लोग बेहोश हो गए, जबकि कुछ लोगों को सांस लेने में दिक्कत हो रही है.

पीएम मोदी ने ट्ववीट कर लिखा, ‘मैंने
विशाखापट्टनम की स्थिति के बारे में  MHA (गृह मंत्रालय) और NDMA (राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण) के अधिकारियों से बात की है जिस पर कड़ी नज़र रखी जा रही है. मैं विशाखापट्टनम में सभी की सुरक्षा और कल्याण के लिए प्रार्थना करता हूं.’ पीएम नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश के सीएम वाई.एस. जगनमोहन रेड्डी से बातचीत की है. उन्होंने सभी मदद और सहायता का आश्वासन दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.