अंकिता के हत्यारों की 3दिन की रिमांड खत्म, एसआइटी प्रभारी ने मीडिया से कही ये बाते, देखिये VIDEO

Spread the love

 

पौड़ी गढ़वाल : अंकिता भंडारी मर्डर केस को लेकर पुलिस रिमांड पर लिए गए तीनों हत्यारोपियों को आज एसआईटी ने पौड़ी जिला कारागार में दाखिल कर दिया

इससे पूर्व एसआईटी ने इस हत्याकांड के तीनों आरोपियों को रिमांड पर लिया था अंकिता हत्याकांड को लेकर एसआईटी ने आरोपियों से अहम सबूत जुटाए

23 सितंबर को रेगुलर पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इसके बाद कोर्ट में पेश करने के बाद तीनों आरोपियों पुलकित, अंकित और सौरभ को न्यायियक अभिरक्षा में जिला कारागार खांड्यूसैंण भेज दिया गया था। अंकिता हत्याकांड की जांच को लेकर सरकार ने डीआईजी पी. रेणुका देवी की अध्यक्षता में एसआईटी टीम का गठन किया है।

अंकिता हत्याकांड अपडेट
आज अंकिता हत्या कांड की जांच कर रही एसआइटी जांच अधिकारी पी रेणुका देवी नें कहा कि तीनो अभियुक्तों को हमने तीन दिन की रिमांड पर लिया था तीनो आरोपियों से गंभीरता से पूछताछ की गई हैजिससे हमें काफी सबूत मिले हैं

उन्होंने बताया कि तीनो आरोपियों को घटना स्थल पर ले जाया गया जहाँ पर तीनों आरोपियों से घटना स्थल पर ले जाकर घटना कर्म की पूरी जानकारी ली गई है और एसआइटी को घटना स्थल से काफी साक्ष्य मिले है
वही डीआईजी एसआईटी पी रेणुका देवी ने बताया कि एसआइटी टीम द्वारा घटना क्रम से जुड़े सभी राजस्व विभाग के कर्मचारियों सहित सभी से पूछताछ की जा रही है।

साथ ही वनन्तरा रिजॉर्ट और पुलकित आर्य की कैंडी फक्ट्री में कार्यरत कर्मचारियों से भी पूछताछ की जा रही है

वहीं जांच अधिकारी पी रेणुका देवी ने कहा है कि सीसीटीवी के माध्यम से एसआइटी को काफी सबूत मिले हैं।
वनन्तरा रिजॉर्ट में वीआईपी गेस्ट को लेकर डीआईजी ने बताया कि गेस्ट की जांच की जा रही है। जल्द ही इसकी जानकारी जुटाई जाएगी, वहीं डीआइजी पी रेणुका देवी ने बताया है कि एसआइटी की टीम के पास अंकिता हत्या कांड के पर्याप्त मात्रा में सबूत मौजूद हैं।

जब डीआईजी पी रेणुका से मोबाइल के बारे में जानकारी मांगी तो उन्होंने मना कर दिया कि घटनास्थल से कोई भी मोबाइल बरामद नहीं हुआ है

अंकिता भंडारी हत्याकांड में गठित SIT की प्रभारी DIG सुश्री पी. रेणुका देवी ने बताया कि 3 दिन के रिमांड में अभियुक्तों से घटना के संबंध में गहन पूछताछ की है, घटना के संबंध में सबूत भी मिले हैं। जांच काफी आगे बढ़ी है, काफी गवाहों से पूछताछ की है और बयान भी दर्ज़ किये हैं। SIT के पास पर्याप्त साक्ष्य हैं अभियुक्त किसी भी हाल में बच नहीं पाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.