देश में अब तेजी से पैर पसार रहा कोरोना- बीते 24 घंटे में COVID-19 संक्रमण से 13 लोगों की मौत, 508 नए मामले आए सामने

Spread the love

नई दिल्ली: देश में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए 21 दिनों का लॉकडाउन जारी है और यह 14 अप्रैल तक रहेगा. इस बीच सूत्रों ने ऐसी खबरें दी हैं कि कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए सरकार लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला ले सकती है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राज्यों और विशेषज्ञों ने केंद्र से लॉकडाउन बढ़ाने की अपील की है.देश में हर दिन कोरोना के आंकड़ों में इजाफा होता जा रहा है. अब तक इस महामारी से 124 लोगों की मौत हो चुकी है और 4789 लोग इससे संक्रमित हैं. इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटे में देश में कोरोना के कुल 508 मामले सामने आए हैं, वहीं इस दौरान 13 लोगों की मौत हो गई है. राहत की बात ये है कि 353 लोग इलाज के बाद स्वस्थ होकर अपने घर वापस जा चुके हैं.

किस राज्य में कितनी मौतें
स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में मध्यप्रदेश में चार, महाराष्ट्र और राजस्थान में तीन-तीन एवं गुजरात, ओडिशा और पंजाब में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है. कोरोनावायरस से अब तक सबसे ज्यादा 48 मौत महाराष्ट्र में हुई है. इसके बाद गुजरात और मध्य प्रदेश में 13-13, तेलंगाना, पंजाब और दिल्ली में सात-सात और तमिलनाडु में पांच मौतें हुई हैं. इसके अलावा कर्नाटक में चार मौत हुई हैं, जबकि पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश और राजस्थान में तीन-तीन लोगों की मौत हुई है. वहीं जम्मू-कश्मीर और केरल में दो-दो मौतें हुई हैं. बिहार, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है.

सबसे ज्यादा संक्रमण के मामले महाराष्ट्र से
देश में संक्रमण के सबसे अधिक 868 मामले महाराष्ट्र में हैं. इसके बाद तमिलनाडु में 621 और दिल्ली में 576 मामले हैं. तेलंगाना में संक्रमित लोगों की संख्या 364, केरल में 327, उत्तर प्रदेश में 305 और राजस्थान में 288 हैं. आंध्र प्रदेश में कुल 266 लोग संक्रमित हैं. मध्यप्रदेश में संक्रमण के मामले बढ़ कर 229, कर्नाटक में 175 और गुजरात में 165 हो गए हैं. जम्मू-कश्मीर से 109, पश्चिम बंगाल में 91, हरियाणा में 90 और पंजाब में 91 मामले सामने आए हैं. बिहार में 32 जबकि उत्तराखंड में 31 और असम में 26 मामले हैं. ओडिशा में 42, चंडीगढ़ में 18, लद्दाख में 14 और हिमाचल प्रदेश में अब तक 13 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह और छत्तीसगढ़ से 10 मामले सामने आए हैं. गोवा में सात और पुडुचेरी में पांच लोग संक्रमित हैं. वहीं, झारखंड में चार और मणिपुर में दो लोगों में जबकि त्रिपुरा, मिजोरम और अरुणाचल प्रदेश में एक-एक व्यक्ति में संक्रमण की पुष्टि हुई है.

14 अप्रैल के बाद आगे बढ़ सकता है लॉकडाउन!
सरकार से जुड़े शीर्ष सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि ‘कई राज्य सरकारों और विशेषज्ञों’ ने केंद्र सरकार से गुहार लगाई है कि 21 दिन के लॉकडाउन को 14 अप्रैल से आगे बढ़ाया जाए. सूत्रों ने बताया कि केंद्र सरकार राज्य सरकारों की इस अपील पर विचार कर रही है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि लॉकडाउन की मियाद बढ़ाने का फैसला देशहित को ध्यान में रखकर लिया जाएगा और “सही समय” पर इसका ऐलान किया जाएगा.

क्यों जरूरी था लॉकडाउन? स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताई वजह
स्वास्थ्य मंत्रालय के मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में लॉकडाउन का महत्व बताया. स्वास्थ्य मंत्रालय ने ये भी बताया कि लॉकडाउन की जरूरत क्यों पड़ी. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि आईसीएमआर के एक अध्ययन में यह पाया गया है कि अगर लॉकडाउन और सामाजिक मेल-जोल से दूरी बरतने के नियमों का पालन नहीं हुआ तो कोरोनावायरस का एक मरीज 30 दिनों में 406 लोगों को संक्रमित कर सकता है.

दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 51 नए मामले (मरकज के तीन लोग) सामने आए हैं और दो लोगों की मौत हुई है. बता दें कि दिल्ली में संक्रमितों की संख्या 576 पहुंच चुकी है वहीं अबतक 9 लोगों की मौत हो चुकी है. मालूम हो कि दिल्ली में कोरोना वायरस की चुनौती का सामना करने के लिए दिल्ली सरकाrने फाइव स्‍टेप प्‍लान तैयार किया है. इसके तहत रणनीति को अंतिम रूप दे दिया है, इसके अंतर्गत देश की राजधानी में अगले कुछ दिनों में एक लाख से ज्यादा टेस्ट किए जाएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.