उत्तराखंड भाजपा के इस नेता को आया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फोन,पीएम ने कही ये बात

Spread the love

देहरादून– बीजेपी के बरिष्ट नेता और सन 60 से जनसंघ से जुड़े मोहन लाल बौठियाल को आज यकीन नही हुआ कि उन्हें pmo से फोन आया और प्रधानमंत्री बात कर रहे है उनकी कुशल छेम पूछ रहे और उनके योगदान को याद कर रहे है।सुबह 8बजकर 26 मिनिट पर जब वे अपने गाँव एता में अपने गेंहू के खेतों की तरफ घूमने गए थे तभी ये फोन आया जिसमे उनसे पूछा गया क्या मोहन जी बोल रहे है ओर ये बताया गया कि प्रधानमंत्री बात करेंगे। फिर प्रधानमंत्री ने लगभग तीन मिनिट बात की। प्रधन्मन्त्री ने बताया कि आज उन्होंने जनसंघ से जुड़े अपने पुराने लोगो से बात की इसी क्रम में आप से बात कर रहे है ये समय संकट का है इसलिए वे सभी से बात कर रहे है साथ ही दोनों ने अपनी बद्रीनाथ व श्रीनगर गढ़वाल की मुलाकातों को याद किया।

बौठियाल ने कहा कि ये किसी कार्यकर्ता के लिए बहुत बड़ा सम्मान है कि जब देश का प्रधानमंत्री स्वयं फोन करके उनका हालचाल पूछता है और मोदी जी की यही खूबी उन्हें जननायक बनाती है
गोरतलब है कि मोहनलाल बौठियाल उत्तराखण्ड में बीजेपी ये संस्थापको में से एक रहे है सन 58 में वे बाल स्वयं सेवक के तौर पर संघ से जुड़ गए थे 60 में वे जनसंघ से जुड़े ओर फिर 70 में जनता पार्टी में फिर 80 में bjp के सदस्य बने और तब से आज तक जुड़े है। उत्तराखण्ड में बीजेपी को एक पार्टी के तौर पर खड़ा करने के लिए सालो साल कठिन परिश्रम किया वे राज्य बनने के बाद पार्टी के कई बारिष्ठ पद पर रहे पंचायत प्रकोष्ठ के अध्यक्ष रहे अनुशासन समिति के अध्यक्ष रहे वही कई बार गढ़वाल लोकसभा के प्रभारी व पालक रहे है 2014 से 20 तक राष्ट्रीय परिषद के सदस्य रहे।

बीजेपी सरकार के समय वन निगम व जलागम प्रबंधन समिति के अध्यक्ष रहे वही विद्या भारती रामजन्मभूमि आंदोलन व राज्य आंदोलन में सक्रिय भूमिका रही है कई बार जेल भी गए है आपातकाल में भी भूमिगत आंदोलन में सक्रिय रहे राज्य बनने से पहले पर्वतीय विकास परिषद के सदस्य भी रहे ।
जब प्रदेश में पार्टी पुराने लोगो को भूल रही ऐसे में प्रधानमंत्री दुआरअपने पुराने लोगो को याद किया जाना उन लोगो के लिए भी संदेश है जो आज पार्टी की चकाचौंध देख रहे लेकिन उस त्याग समर्पण को मेहनत को नही देख रहे है जिसकी बदौलत आज पार्टी इस मुकाम पर पहुँची है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.