उत्तराखंड कांग्रेस के अध्यक्ष प्रीतम सिंह, महामंत्री संगठन विजय सारस्वत और उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने राज्य सरकार द्वारा प्रवासियों को उनके जनपदों में भेजने की नीति को अव्यावहारिक बताया है।

Spread the love

उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस  अध्यक्ष प्रीतम सिंह, महामंत्री संगठन विजय सारस्वत और उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने राज्य सरकार द्वारा प्रवासियों को उनके जनपदों में भेजने की नीति को अव्यावहारिक बताया है।


कांग्रेस नेताओं ने कहा है कि जिस तरह से आज देहरादून से पौड़ी जनपद के लोगों को भेजा गया है और यह कहा जा रहा है कि हर रोज एक जिले के लोगों को भेजा जाएगा तो इससे इस तरह तो 13 दिन लग जाएंगे और आज से शुरू हुई प्रक्रिया का पहला भाग 15 मई को पूरा होगा। लोगों के जाने की तादाद 87000 बताई जा रही है और कुल 400 ही लोग आज जा पाए हैं। जाहिर है इस तरह से चार चार सौ लोग अगर भेजे जाएंगे तो इस काम में महीनों लग जाएंगे और प्रवासियों के घर वापसी का सिलसिला ही पीड़ा और दुख का सिलसिला बन जाएगा। काग्रेस नेताओं ने मुख्यमंत्री से कहा है कि सभी जिलों के लोगों को उनके जनपदों में भेजने के लिए देहरादून में यदि वे सीधा देहरादून जा रहे हैं तो कम से कम चार स्थानों पर व्यवस्था होनी चाहिए ।अन्यथा उत्तराखंड के जो छह बड़े जाने माने आगमन के द्वार हैं जिनमे रुड़की, कोटद्वार हल्द्वानी, पावटा मोहन्ड धारचुला आदि शामिल हैं उन सभी रास्तों से राज्य सरकार को लोगों को सीधा उनके जनपदों में जाने की व्यवस्था करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रवासियों की वापसी में अब कदापि विलंबउचित नहीं है और सरकार को चाहिए कि वह व्यवहारिक बने और यह भी देखें कि जो ड्राइवर इन बसों को लेकर आ रहे हैं कहीं वह कोरोना पॉजिटिव तो नहीं है ।एक ड्राइवर के मसले में ऐसी खबर आई है जो बहुत ही चिंताजनक है। उन्होंने बाहर से आए प्रवासियों को चेक किए जाने का भी समर्थन किया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.