एसओएस चिल्ड्रेन्स विलेजेज के बच्चों ने वार्षिक सांस्कृतिक महोत्सव ʺई-तरंग 2020ʺ के ग्रैंड फिनाले में शानदार प्रदर्शन किया

 

देहरादून, 27 नवंबर, 2020 – माता- पिता की देखभाल से वंचित बच्चों और अनाथ बच्चों के समग्र विकास के प्रति समर्पित भारत का सबसे बडा गैर सरकारी संगठन एसओएस चिल्ड्रेन्स विलेजेज ऑफ इंडिया का वार्षिक सांस्कृतिक महोत्सव ʺई-तरंग 2020ʺ के ग्रैंड फिनाले को आज यहां फेसबुक पर स्ट्रीम किया गया, जिसने सैकड़ों बच्चों की रचनात्मक प्रतिभा को सामने लाया जो एसओएस चिल्ड्रेन्स विलेजेज में रहते हैं और जो देश भर में गैर सरकारी संगठन के आउटरीच कार्यक्रमों के लाभार्थी परिवारों से संबंधित हैं। इसके तहत गायन, नृत्य, और भाषण सहित विभिन्न रचनात्मक क्षेत्रों से प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया था।

ग्रैंड फिनाले में मुख्य अतिथि असम के मुख्यमंत्री श्री सर्बानंद सोनोवाल थे। इस समारोह में डब्ल्यूसीडी छत्तीसगढ़ की संयुक्त निदेशक सुश्री अर्चना राणा और पद्म श्री गोपाल प्रसाद दुबे सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे।

हरियाणा के अनंगपुर के इरफाना एकल गायन प्रतियोगिता के विजेता बने, जबकि उपविजेता महाराष्ट्र के लातूर की नेहा रही। युगल गायन प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार ग्रीनफील्ड्स, हरियाणा की अंजलि और साबरा को मिला और द्वितीय पुरस्कार उत्तराखंड के भीमताल के प्रशांत और बिमला को मिला। ग्रुप डांस प्रतियोगिता के विजेता ग्रीनफील्ड्स, हरियाणा की कोमल, एकता, अंजू और निष्ठा थीं, जबकि उपविजेता पुदुचेरी की पवित्रा, सुबास्री, अबिनाया और जयंती थीं। विज्ञान परियोजना प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार उत्तर प्रदेश के वाराणसी की परिणीति ने जीता जबकि महाराष्ट्र के लातूर की अंजलि काटपुरे ने द्वितीय पुरस्कार जीता।

हिंदी और अंग्रेजी में तात्कालिक भाषण प्रतियोगिताओं के विजेता क्रमशः भोपाल के खजुरिकलन की मानसी और कोलकाता के स्वयं रहे। हिंदी में तात्कालिक भाषण प्रतियोगिता के उप विजेता हरियाणा के ग्रीनफील्ड्स के कनिष्क थे और अंग्रेजी में आंध्र प्रदेश के तिरुपति की संगीता थी। क्विज प्रतियोगिता में ओडिशा के राउरकेला की दुर्यादानंद और रोहित टीम पहले स्थान पर रही, जबकि आंध्र प्रदेश के तिरुपति के गंगाद्री और अशोक की टीम ने द्वितीय पुरस्कार जीता।

तरंग का आयोजन विश्व बाल दिवस के उपलक्ष्य में भी किया जाता है, जो हर साल 20 नवंबर को पड़ता है। एनजीओ चिल्ड्रेन्स विलेजेज में रहने वाले 6,500 से अधिक बच्चों को परिवार की तरह देखभाल प्रदान करता है जो देश में22 राज्यों में 32 स्थानों पर चिल्ड्रेन्स विलेजेज में रहते हैं।

तरंग 2020 के बारे में बात करते हुए, एसओएस चिल्ड्रेन्स विलेजेज ऑफ इंडिया के वरिष्ठ उप राष्ट्रीय निदेशक श्री सुमंत कर ने कहा, ष्तरंग हमारी देखभाल में रहने वाले बच्चों के विकास के लिए हमारी प्रतिबद्धता में सहायता करता है, और उनकी रचनात्मक और सह-विद्वता का प्रदर्शन अपने तरीके से करता है। यह कार्यक्रम बच्चों के श्राइट टू पार्टिसिपेशनश् को दर्शाता है, जो बाल अधिकारों पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के मुख्य स्तंभों में से एक है। मैं इस अवसर पर अपने मुख्य अतिथियों, अपने सहयोगियों, प्रायोजकों, सहकर्मियों और शुभचिंतकों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने इस आयोजन को शानदार सफलता दिलायी और हमारे और हमारे बच्चों के लिए इसे एक यादगार आयोजन बना दिया। ”

ʺई-तरंग 2020ʺ की जोनल-स्तरीय प्रतियोगिताओं को नवंबर के पहले हफ्तों में कई चरणों में ऑनलाइन आयोजित किया गया। प्रतियोगिताओं ने उन 22 राज्यों ध् केंद्रशासित प्रदेशों में फैले 32 परियोजना स्थानों से वैसे बच्चों ने व्यापक रूप से भाग लिया, जो मातादृपिता की देखभाल से वंचित और परित्यक्त थे और जो कमजोर समुदायों से थे, जिन्हें अनाथ होने का खतरा है।

https://www.soschildrensvillages.in/

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करे- विकास कुमार-8057409636

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *