उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी का सम्मेलन आयोजित

Spread the love

 

क्षेत्रीय दलों को एक मंच पर आना होगा: कुंडलिया
उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी का सम्मेलन आयोजित
– विभिन्न दलों और संगठनों के प्रतिनिधियों ने लिया भाग
देहरादून। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के अध्यक्ष संजय कुंडलिया ने कहा है कि प्रदेश के विकास के लिए विभिन्न क्षेत्रीय दलों को एक मंच पर आना होगा। उनके अनुसार यदि सभी क्षेत्रीय दल एक साथ मिलकर सभी 70 सीटों पर चुनाव लड़ती हैं तो भाजपा और कांग्रेस का एक विकल्प जनता के सामने होगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड का राज्य का भाग्योदय 2022 के विधानसभा चुनाव से होगा।
राजपुर रोड के एक निजी होटल में आयोजित इस सम्मेलन में विभिन्न दलों और संगठनों के लोगों ने प्रतिभाग किया। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के अध्यक्ष कुंडलिया ने मंच संचालन करते हुए कहा कि जनता का विश्वास खो चुके क्षेत्रीय दलों को नये सिरे से एकजुट होना होगा। उन्होंने अपनी पार्टी को सोशो-पाॅलीटिकल पार्टी बताया और कहा कि पार्टी राजनीति के साथ ही सामाजिक सरोकारों की दिशा में भी काम करेगी। उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी मंच के अध्यक्ष प्रदीप कुकरेती ने कहा कि हम जनता का विश्वास खो चुके हैं और इसे जीतने के लिए हमें धरातल पर काम करना होगा। उन्होंने राज्य गठन में यूकेडी की भूमिका की सराहना की लेकिन साथ ही कहा कि राज्य बनने के बाद यूकेडी समाप्त हो गयी। पूर्व सैनिकों के नेता पीसी थपलियाल ने इस बात पर चिन्ता जतायी कि आज राजनीतिक दलों के नेता साधन संपन्न हो चुके हैं और उनके पास अकूत धन है। ऐसे में ंचुनाव में उनका सामना किस तरह से करें, यह बड़ा सवाल है। उन्होंने उत्तराखंड को देश की आध्यात्मिक राजधानी बनाने पर जोर दिया। सम्मेलन को युवा नेता मनोज बिज्लिवाण, शिक्षाविद् डा. तरुण नैनवाल, यूपीपी के संयोजक हितेेश नेगी, आशीष नौटियाल आदि ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर आंदोलनकारी मनोज ध्यानी, धाद के अध्यक्ष लोकेश नवानी, समाजसेवी विजय जुयाल, जयदीप सकलानी, अंबुज शर्मा, बीपी कुंडलिया, झब्बर सिंह पावेल, आदि लोग मौजूद थे।
बाक्स
मसाला बनाने वाली महिलाओं ने भी किया प्रतिभाग
उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के इस सम्मेलन की विशेषता रही है कि इसमें कई सोशल संगठनों ने भी भाग लिया। प्रेमनगर के मसाला उद्योग से जुड़ी घना वालिया ने महिलाओं को मसाला व्यवसाय से जोड़ने और सफलता हासिल करने की कहानी बतायी तो मोथरावाला में समूण बड़ियां बनाने वाले अजय भट्ट ने आसपास की महिलाओं को दाल की विभिन्न तरह की बड़ियों के बारे में भी जानकारी दी। सम्मेलन में गैर सरकारी संगठनों के कई प्रतिनिधियों ने भी भग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.