आडेे वक्त मे सोनिया गांधी द्वारा गरीबों की रक्षा हेतू आगे आने पर उत्तराखंड कांग्रेस द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष को दी गई बधाई

Spread the love

देहरादून:-उत्तराखंड कांग्रेस के अध्यक्ष प्रीतम सिंह और प्रतिपक्ष की नेता श्रीमती इंदिरा हृदयेश ने कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी को इस बात के लिए बधाई दी है कि उन्होंने ऐसे वक्त में देशभर के कामगारों और मजदूरों के हित में आगे आकर इस बात का ऐलान किया कि “जो भी प्रवासी मजदूर और कामगार अपने प्रदेशों में जाना चाहते हैं केंद्र सरकार अगर उनकी मदद नहीं कर रही तो कांग्रेसी इस काम में आगे आकर उनकी मदद करेगी और उनकी रेल यात्रा का संपूर्ण खर्च कांग्रेस और कांग्रेस संगठन की राज्य शाखाएं वहन करेंगी।” उन्होंने कहा कि श्रीमती सोनिया गांधी के इस फैसले से केंद्र सरकार को बैकफुट पर आना पड़ा है और इसके लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को देश की 130 करोड़ जनता से माफी मांगनी चाहिए ।
कांग्रेस के शीर्ष नेताओं ने कहा कि अभी भी जिस तरह से प्रवासी कामगारों और मजदूरों को लाने में केंद्र सरकार की व्यवस्थाएं चरमरायी हुई दिख रही हैं उससे लगता है कि केंद्र की सरकार कोशिश तो कर रही है लेकिन उसमें प्रशासनिक दक्षता का सर्वथा अभाव है और मजदूरों और कामगारों को लाने का कार्य बेमन से किया जा रहा है ।
कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह और इंदिरा हिरदयेश की ओर से उक्त बयान को जारी करते हुए प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष रंजीत रावत, खुशाहाल सिंह अधिकारी, धीरेंद्र प्रताप और महामंत्री संगठन विजय सारस्वत और पीके अग्रवाल ने कहा है कि केंद्र सरकार ने प्रवासी कामगारों और मजदूरों को उनके राज्यों में भेजने के फैसले पर जिस तरह से हिलाहवाली की वह मजदूरों और कामगारों का अपमान था ।जिसकी निंदा करते हुए कहा कि देश के कामगार और मजदूर इस देश की रीढ़ की हड्डी हैं और उनके साथ जिस तरह से रेलवे स्टेशनों पर मजाक हुआ वह बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को लाँक डाउन खोलने के फैसले और उसी दौरान इन कामगारों और मजदूरों को उनके राज्यों में भेजने के फैसले से पहले ही उनकी मुफ्त रेल यात्रा के प्रबंध का ऐलान करना चाहिए था। और साथ ही यात्रा के दौरान उनके भोजन और जलपान की व्यवस्था करनी चाहिए थी। जो इतने बड़े देश के लिए एक साधारण सा कार्य था ।परंतु जिस तरह से रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस गंभीर मामले में लापरवाही का प्रदर्शन किया, उत्तराखंड कांग्रेस की मांग है रेल मंत्री पीयूष गोयल को नैतिकता के आधार पर तत्काल इस्तीफा दे देना चाहिए। कांग्रेसी नेताओं ने कहा इस देश में लाल बहादुर शास्त्री जैसे रेल मंत्री रहे है। जिन्होंने एक रेल दुर्घटना पर अपना इस्तीफा दे दिया था परंतु आज जो लोग सत्ता में बैठे हैं उनके लिए गरीब और मजलूम और कमजोर लोग उनकी प्राथमिकता में नहीं ।अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को नमस्ते कहने के लिए 100 करोड़ रुपए खर्च किए जाते हैं जबकि बदहाली से गुजर रहे कामगारों और मजदूरों का चंद पैसों के लिए सरेआम जुलूस निकाल दिया जाता है।
उन्होंने कहा सत्ता में बैठे लोग अगर गरीबों मजलूमोऔर कमजोर वर्गों के हको की रक्षा नहीं कर सकते तो उन्हें सत्ता और ऊंचे पदों पर बैठने का कोई अधिकार नहीं है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.