प्रसव पीड़ा से पीड़ित महिला को अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते मे वाहन खराब होने पर देवदूत बनी महिला कांस्टेबल !सुरक्षित प्रसव करवा कर इंसानियत का दिया परिचय।

Spread the love

जोधपुर, 05 मई। लॉकडाउन के दौरान पुलिस लगातार लोगों के लिए मददगार बनकर सामने आ रही है। ऐसा ही एक मामला राजस्थान के जोधपुर का है। यहां एक महिला कॉस्टेबल ने नागाणा गांव की एक गर्भवती महिला का बीच रोड़ चौराहे पर सुरक्षित प्रसव कराकर दोनों को नया जीवन दान दिया है।
खबर के मुताबिक बाड़मेर के नागाणा गांव से एक गर्भवती महिला निजी वाहन से जोधपुर के सरकारी अस्पाल जा रही थी। इसी बीच देव नगर थाना क्षेत्र स्थित आखलिया चौराहे पर वाहन खराब हो गया। काफी देर तक वाहन उसी स्थान पर खड़ा रहा। इस बीच महिला को प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। इस बीच महिला को प्रसव पीड़ा तेज हो गई और महिला ने निजी वाहन में ही बच्चे को जन्म दे दिया। महिला के भाई ने बताया कि आखलिया चौराहे पर कर्फ्यू इलाके में तैनात महिला कॉस्टेबल ने गर्भवती बहन का सुरक्षित प्रसव करवाया। आसपास खड़े पुलिस अधिकारी और जवानों ने प्रसव पीड़ा के बारे में सुनते ही निजी वाहन को चारों तरफ से टेंट लगाकर कवर कर लिया। इस घटना की सूचना मिलते ही देव नगर थाना पुलिस द्वारा डॉक्टर और एंबुलेंस को सूचना दी गई। प्रसव के बाद नवजात बच्ची और उसकी मां को एंबुलेंस से सरकारी अस्पताल भेजा गया। जहाँ मां और बच्ची दोनों स्वस्थ बताए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.