आजीवन कारावास काट रहे शख्स को जब अदालत ने 27 साल बाद निर्दोष पाया! तो जज ने बदले में मुवावजे की रकम पूछा तो जानिए ये जबाब था उस व्यक्ति का???

क्वामे अजामु एक गरीब घर का इकलौता बेटा था। उसे 17 साल की उम्र में एक झूठे हत्या के केस में आजीवन कारावास की सजा दी गई थी

 क्वामे अजामु जो ऑहियो के रहवासी हैं।जिनके मुस्कुराते चेहरें को देख कर आपके चेहरें पर भी एक छोटी सी मुस्कान आ ही सकती हैं।लेकिन……..

इस मुस्कुराते चेहरें के पीछे 27 साल बिना किसी जुर्म के जेल में बिताने का दुःख भी हैं।

इन्हें मर्डर और डकैती के आरोप में कई साल जेल में गुजारने पड़े ।

लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बात यह थी कि इन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया था और वे बेक़सूर थे जिन्हें बिना ज्यादा जाँच पड़ताल किये ही दोषी करार दिया गया और इतने वर्षों की सज़ा दे दी गई।,

लेकिन कहतें हैं कि भगवान के घर देर हैं अँधेर नहीं।आख़िरकार क्वामे अजामु को न्याय मिला और 27 साल बाद इन्हें बेकसूर करार दिया गया।

अजमो कोर्ट में जज के बगल में बैठा था ।

आजमो के सामने खाली कागज रखा और जज ने कहा कि 27 साल जेल में बिताने के बदले तुम्हें कितना पैसा चाहिए इस कागज पर लिख दें और सरकार आपको तुरंत बहुत पैसा देगी ।

क्या आपको पता है अजमो ने क्या लिखा

अजमो ने लिखा ” जज साहब, इस कानून को बदलने का काम करो ” ताकि 27 साल किसी और आजमो की जिंदगी बर्बाद ना हो जाए ।

इसके बाद वो रोने लगा और कोर्ट रूम में सब लोग रो पड़े ।

यह अदालत में उस पल की तस्वीर है जब अजोमा को बरी किया गया था

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *