एसटीएफ एवं साइबर क्राईम की फर्जी सिम बेचने वालो पर बड़ी कार्यवाही

Spread the love

*गढ़वाल परिक्षेत्र में पाये गये 166 फर्जी सिम तथा कुमाऊ परिक्षेत्र में 178 फर्जी सिम*

*एक सप्ताह में फर्जी सिम बेचने वालो के विरुद्ध 02 अभियोग पंजीकृत*

 

वर्तमान में साइबर अपराधी आम जनता की गाढ़ी कमाई हड़पने हेतु अपराध के नये-नये तरीके अपनाकर धोखाधड़ी कर रहे है। इसी परिपेक्ष्य में ठगों द्वारा फर्जी सिम प्राप्त करने हेतु विभिन्न माध्यम से सिम प्राप्त कर आम जनता से साईबर ठगी की जा रही है ।
इसी क्रम में Department of Telecommunications, Government of India, ministry of communication के द्वारा एसटीएफ उत्तराखण्ड को एक पत्र प्रेषित किया गया था, जिसमें भारी मात्रा में फर्जी आईडी पर मोबाइल सिम आवंटित किये जाने पर विधिक कार्यवाही करने की अपेक्षा की गयी थी । उक्त प्रकरण में SSP/STF उत्तराखण्ड के दिशा निर्देशन में तत्काल कार्यवाही करते हुए STF/CCPS द्वारा मामले की गम्भीरता को देखते हुए विश्लेषण किया गया, जिसमें पाया गया कि कस्टमर एप्लीकेशन फार्म (CAF) में लगाये गये फोटो फर्जी हैं। जिसके सम्बन्ध में वोडाफोन से जवाब तलब किया गया। *इसके उपरान्त वोडाफोन कम्पनी के प्रतिनिधि द्वारा दिनांक 15-09-2022 को जनपद हरिद्वार के थाना मंगलौर में जाकर अभियोग पंजीकृत कराया गया।*
*इसी क्रम में आज दिनांक 22-09-2022 को जनपद उधमसिंहनगर के थाना बाजपुर में 178 फर्जी सिम कार्ड जारी करने वालो के विरुद्ध वोडापोन कम्पनी के प्रतिनिधि द्वारा अभियोग पंजीकृत कराया गया।* STF/CCPS की उक्त कार्यवाही को Department of Telecommunications (DOT) द्वारा सराहना की गयी तथा भविष्य में सम्मनवय स्थापित कर ऐसे फर्जी सिम कार्ड में तुरन्त कार्यवाही करते हुए वैधानिक कार्यवाही की जायेगी।
*वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, STF द्वारा जनता से अपील की गयी कि यदि आपको ऐसा एजेन्ट मिलता है जो फर्जी सिम प्राप्त कराता है या फर्जी फोटो आईडी लगा कर कार्य करता है तो उसकी सूचना तत्काल साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन अथवा अपने निकटतम पुलिस थाने को देने का कष्ट करें, जिस पर तत्काल वैधानिक कार्यवाही की जायेगी ।*

Leave a Reply

Your email address will not be published.