CYBER BULLETIN : स्पेशल टास्क फोर्स उत्तराखंड के अंतर्गत कार्यरत साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा आज दिनांक 20 जनवरी 2021, संध्या5 pm की साइबर बुलेटिन

स्पेशल टास्क फोर्स उत्तराखंड के अंतर्गत कार्यरत साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा आज दिनांक 20 जनवरी 2021, संध्या5 pm की साइबर बुलेटिन CYBER BULLETIN :
1-  कालसी देहरादून निवासी व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन को एक शिकायती प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया, जिसमें उनके द्वारा अपने पंजाब नेशनल बैक के ए0टी0एम से पैसे निकालने के लिये ए0टी0एम मशीन से धनराशि निकालने का प्रयास किया गया किन्तु धनराशि नही निकल पायी किन्तु खाते से पैसे कट गये , जिस पर शिकायतकर्ता द्वारा गूगल पर कस्टमर केयर का नम्बर सर्च किया तो उनको एक नम्बर प्राप्त हुआ जिस पर उनके द्वारा कॉल किया गया तो उक्त व्यक्ति द्वारा स्वंय को पंजाब नेशनल बैक से बताते हुये शिकायतकर्ता के मोबाइल नम्बर पर ओ0टी0पी0 भेजा गया जिसे शिकायतकर्ता द्वारा उसे बता दिया गया जिस पर अज्ञात व्यक्ति द्वारा उसके खाते से रुपये 6800 धोखाधडी से निकाल लिये और उसके खाते का प्रयोग अन्य व्यक्तियो से भी धोखाधडी के लिये किया जाने लगा । उक्त प्रार्थना पत्र पर साईबर थाने से उप निरीक्षक राजेश ध्यानी द्वारा जॉच की गयी व प्रकरण में शिकायतकर्ता की धनराशि पेटीएम वॉलेट में जानी पायी गयी  उक्त पेटीएम वॉलेट राजस्थान का होना पाया गया । पेटीएम नोडल से पत्राचार कर खाते को फ्रीज किया गया व शिकायतकर्ता को फोन करने वाले अज्ञात मोबाइल धारको की जानकारी की गयी तो उक्त नम्बर राजस्थान का होना पाया गया । प्रकरण आवश्यक कार्यवाही हेतु सम्बन्धित जनपद को प्रेषित किया जा रहा है ।
2- सर्वे रोड देहरादून निवासी व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड़ को एक शिकायती प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया जिसमे उनके द्वारा अवगत कराया गया कि एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा उनसे इस्टाग्राम पर दोस्ती कर धनराशि इन्वेस्टमेन्ट के नाम पर ऑनलाईन –ई-वालेट बनाने एंव अन्य चार्ज के रुप में धोखाधडी कर 17000/- की ठगी की गयी है उक्त प्रार्थना पत्र की जांच उ0नि0 निर्मल भट्ट द्वारा की गयी तथा शिकायतकर्ता से प्राप्त विवरण के आधार पर सम्बन्धित ई-वालेट कम्पनी से सम्पर्क किया गया तो ज्ञात हुआ कि शिकायतकर्ता के खाते से धनराशि असम के बैक खाते में जानी पायी गयी, सम्बन्धित बैक नोडल अधिकारी से सम्पर्क कर खाताधारक की जानकारी प्राप्त की गयी, प्रकरण  कार्यवाही हेतु सम्बन्धित जनपद को भेजा जा रहा है ।
3- रिंग रोड देहरादून निवासी व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड़ को एक शिकायती प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया जिसमे उनके द्वारा अवगत कराया गया कि एक व्यक्ति द्वारा मुझे मेरे नम्बर पर फोन कर बताया कि में अपका रिश्तेदार बोल रहा हूं तथा में आपके खाते में कुछ धनराशि डाल रहा हूं जिसे में आपसे नगद आकर ले लूगा , उक्त की बात पर विश्वास कर शिकायतकर्ता द्वारा धनराशि डालने को कहा तो उक्त अज्ञात व्यक्ति द्वारा 15 रुपये डालते हुये कहा गया कि यह मैने चैक करने के लिये डाले है कि धनराशि आपके पास आ रही है या नही , फिर उक्त व्यक्ति द्वारा और धनराशि डालने हेतु एक लिंक भेजा जिसे शिकायतकर्ता द्वारा स्वीकार कर लिया गया , लिंक को स्वीकार करते ही शिकायतकर्ता के खाते से रुपये 49000/-अज्ञात व्यक्ति द्वारा धोखाधडी से निकाल लिये गये उक्त प्रार्थना पत्र की जांच उ0नि0  निर्मल भट्ट द्वारा की गयी तथा शिकायतकर्ता से प्राप्त विवरण के आधार पर सम्बन्धित ई-वॉलेट कम्पनी गूगल पे से सम्पर्क किया गया व शिकायतकर्ता के बैक से जानकारी की गयी तो शिकायतकर्ता की धनराशि अज्ञात व्यक्ति द्वारा पश्चिम बंगाल के पेटीएम गेटवे के माध्यम से प्राप्त कर धोखाधडी किया जाना प्रकाश में आया सम्बन्धित पेमेन्ट गेटवे को मेल प्रेषित कर वॉलेट को फ्रीज कराया गया है, तथा मोबाइल धारक की जानकारी की गयी तो उक्त नम्बर असम  का होना पाया गया । प्रकरण में आवश्यक कार्यवाही कर सम्बन्धित जनपद को भेजा जा रहा है ।
साईबर सुरक्षा टिप

कभी भी किसी से अपने डेबिट कार्ड/क्रेडिट कार्ड की जानकारी शेयर न करें । कोई भी बैंक या वॉलेट आपको फोन कर आपकी बैंकिग डिटेल नही मांगता है ।

कस्टमर केयर से बताकर फोन करने वाले व्यक्ति की बातो में न आये और न ही उसे अपने वॉलेट/बैक सम्बन्धी को जानकारी साझा करें ।

ऑनलाईन प्लेटफार्म पर खरीदारी या सामान बेचते वक्त द्वितीय पार्टी में तत्काल विश्वास ना करें। सामान को भौतिक रुप से देखने व विक्रेता/क्रेता से व्यक्तिगत रुप में मिलकर ही भुगतान करें ।

ध्यान रखे कि अंजान व्यक्ति द्वारा भेजे गये किसी भी पेमेन्ट गेटवे /वॉलेट/मोबाईल एप्लीकेशन पर धनराशि प्राप्त करने हेतु कभी भी न तो QR कोड स्कैन करें, और न ही UPI पिन डालें ऐसा करने से हमेशा धनराशि आपके खाते से ही डेबिट होगी ।

किसी भी प्रकार के अन्जान लिंक पर क्लिक न करें ।

किसी भी साईबर शिकायत / सुझाव के लिए–
संपर्क: 0135-2655900
email- ccps.deh@uttarakhandpolice.uk.gov.in
फेसबुक – https://www.facebook.com/cyberthanauttarakhand/
“अपने कम्प्यूटर को हैंग (HANG) होने से बचायें,
किसी भी स्पैम/ अनचाहे लिंक को खोलने से कतराए”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *