देहरादून

पहली बार नर्व वर्ष की पूर्व संध्या पर मसूरी में देखने को नहीं मिला जाम।*

 

देहरादून:-पुलिस उप महानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा मसूरी की यातायात समस्या को लेकर बनायी गयी अचूक यातायात प्लानिंग के कारण इस वर्ष मसूरी के साथ साथ जनपद अन्य स्थानों पर नववर्ष की पूर्व संध्या पर यातायात समस्या देखने को नहीं मिली। इसके लिये पुलिस उप महानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा मसूरी में विगत वर्षों में नव वर्ष की पूर्व संध्या पर आने वाले वाहनों का विश्लेषण कर देहरादून के यातायात को लेकर बनाई गयी रणनीति तथा यातायात को डाइवर्ट करने के लिये बनाये गये महत्वपूर्ण डायवर्जन, मसूरी डाईरेक्शन वाले फ्लैक्सी बोर्डों एवं मसूरी आने-जाने वाले रूट मैप के हैण्ड पम्पलेटों को बनाकर बाहर से आने वाले यातायात को वितरित किये गये जिसका नतीजा यह रहा कि इस बार मसूरी के साथ-साथ पूरे जनपद में नव वर्ष की पूर्व संध्या पर टैªफिक जाम की समस्या देखने को नहीं मिली। जनता को पहली बार नव वर्ष की पूर्व संध्या पर विगत् वर्षों के सापेक्ष जाम से राहत मिली तथा यातायात को लेकर बनाई गयी सुनियोजित कार्ययोजना का नतीजा रहा कि इस बार जनपद में कहीं भी किसी भी प्रकार का यातायात का दबाव देखने को नहीं मिला। जिसकी स्थानीय जनता के साथ-साथ उच्चाधिकारीगणों द्वारा भी प्रशंसा की गयी।*

पुलिस उप महानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा नव वर्ष की पूर्व संध्या पर यातायात व्यवस्था को लेकर इस बार माह के शुरू से ही सभी पुलिस अधीक्षक/क्षेत्राधिकारियों/थाना प्रभारियों के साथ गोष्ठियों में गहन मन्थन कर कार्ययोजना बनायी गयी थी। जिसमें नव वर्ष की पूर्व संध्या पर देहरादून व मसूरी आने वाले लोगों व यातायात के दबाव को लेकर विस्तार से चर्चा की गयी। गोष्ठी में यातायात को सुचारू रूप से चलाने के लिये एक विस्तृत कार्ययोजना बनायी गयी। जो निम्नवत् थी।
01:- विकासनगर/कुल्हाल/आशारोडी/रायवाला/ऋषिकेश की ओर से शहर के अन्दर आने वाले वाहनो व वापस जाने वाले वाहनों का अलग-अलग रूट मैप तैयार किया गया ।
02: विकासनगर की ओर से आने वाले ट्रैफिक को प्रेमनगर- बल्लूपुर- कैण्ट-जोहडी की तरफ से मसूरी की ओर भेजा गया।
03:- आशारोडी की तरफ से आने वाले यातायात को ट्रांसपोर्टनगर- जीएमएसरोड-बल्लूपुर- कैण्ट-जोहडी से मसूरी की ओर भेजा गया।
04: रायवाला की ओर से आने वाले यातायात को भानियावाला तिराहा से राइट टर्न कराते हुए थानों रोड-रायपुर स्टेडियम-सहस्त्रधारा क्रासिंग-राजपुर होते हुए मसूरी की ओर भेजा गया।
05: ऋषिकेश की तरफ से आने वाले यातायात को रानीपोखरी- जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट तिराहा- थानों रोड-रायपुर स्टेडियम-सहस्त्रधारा क्रासिंग-राजपुर होते हुए मसूरी की ओर भेजा गया।
उपरोक्तानुसार बाहर से आने वाले वाहनों के लिये किये गये डाइवर्जन से शहर में यातायात का दबाव लगभग नगण्य हो गया ।
रानीपोखरी/जौलीग्रान्ट तिराहा/भानियावाला तिराहा/नेपाली फार्म तिराहा/आशारोडी/ बल्लूपुर आदि स्थानों पर बैरियर लगाकर उन पर डायवर्जन और मसूरी डाइरेक्शन का फ्लैक्सी बोर्ड लगवाये गये तथा बाहर से आने वाले प्रत्येक वाहन को रोककर वाहन चालक को मसूरी के जाने के रूट मैप हैण्ड पाम्पलेट वितरित किये गये, जिनमें किलोमीटर के हिसाब से मसूरी की दूरी को काफी आसान शब्दों में समझाया गया था। प्रत्येक हैण्ड पाम्पलेट में मसूरी के पार्किंग स्थलों तथा रूट के राइट व लैफ्ट टर्नों के स्थानों को इन्सर्ट बाक्स के माध्यम से दर्शित किया गया था।
मसूरी जाने वाले रूट पर डिवाइडर के ऊपर तथा प्रत्येक बैरियर पर बडे-बडे फ्लैक्सी बोर्ड लगाकर उनके माध्यम से मसूरी की ओर जाने वाले रूट को डायरैक्शन चिन्हों के माध्यम से दर्शित किया गया था। जिससे बाहर से आने वाले वाहन चालकों को उक्त रूट की आसानी से जानकारी प्राप्त हो सकी।
पूरे जनपद में 09 अलग-अलग स्थानों पर पुलिस बैरियर्स लगाकर उक्त स्थानों पर पर्याप्त संख्या में पुलिस बल को नियुक्त किया गया था तथा मसूरी डाइरेक्शन के बोर्ड लगाये गये थे।
मसूरी में वाहनों की तरतीबवार पार्किंग कराने के लिये इस बार कुठालगेट और किंग-ग्रेक पार्किंग स्थल पर पर्याप्त संख्या में पुलिस बल को नियुक्त करते हुए प्रत्येक पुलिस कर्मी को मसूरी के रूट मैप का अलग से चार्ट दिया गया था तथा एक पार्किंग के पूर्ण रूप से भरने के उपरान्त ही वाहनों को दूसरी पार्किंग में भेजने के निदेश दिये गये थे।

सभी होटल मालिकों के साथ पूर्व में ही गोष्ठी आयोजित कर उन्हें निर्देशित किया गया था कि, होटल में आने वाले पर्यटकों के वाहनों को होटल में ही पार्क करवाये तथा प्रयास करें कि वह मसूरी लोकल में घूमने के लिये अपने वाहनों का प्रयोग न करें। जिसका प्रभाव यह रहा कि अधिकतर पर्यटकों द्वारा अपने वाहनों को होटल में ही पार्क कर मसूरी में पैदल भ्रमण किया गया। जिससे स्थानीय स्तर पर जाम की समस्या देखने को नहीं मिली। पुलिस द्वारा की गयी उक्त अभूतपूर्व पहल को जनता द्वारा काफी सराहा गया।
विगत वर्ष मसूरी में नववर्ष की पूर्व संध्या पर बस,कार और टू व्हीलर समेत करीब 3800 वाहनों का आवागमन हुआ था, जबकि इस बार मसूरी में बस,कार और टू व्हीलर समेत करीब 4500 वाहनों का आवागमन हुआ है। उपरोक्त व्यवस्थाओं के परिणाम के कारण ही मसूरी के साथ साथ देहरादून शहर में कही पर यातायात समस्या देखने को नहीं मिली।

Rajnish Kukreti

About u.s kukreti uttarakhandkesari.in हमारा प्रयास देश दुनिया से ताजे समाचारों से अवगत करना एवं जन समस्याओं उनके मुद्दो , उनकी समस्याओं को सरकारों तक पहुॅचाने का माध्यम बनेगा।हम समस्त देशवासियों मे परस्पर प्रेम और सदभाव की भावना को बल पंहुचाने के लिए प्रयासरत रहेगें uttarakhandkesari उन खबरों की भर्त्सना करेगा जो समाज में मानव मानव मे भेद करते हों अथवा धार्मिक भेदभाव को बढाते हों।हमारा एक मात्र लक्ष्य वसुधैव कुटम्बकम् आर्थात समस्त विश्व एक परिवार की तरह है की भावना को बढाना है। हम लोग किसी भी प्रतिस्पर्धा में विस्वास नही रखते हम सत्यता के साथ ही खबर लाएंगे। हमारा प्रथम उद्देश्य उत्तराखंड के पलायन व विकास पर फ़ोकस रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *