दिल्ली के पर्यटक दो परिवारों ने नये साल पर ईमानदारी क़ी मिशाल पेश क़ी।

Spread the love

*ईमानदारी क़ी मिशाल*
देहरादून/मसूरी :- दिल्ली के पर्यटक दो परिवारों ने नये साल पर ईमानदारी क़ी मिशाल पेश क़ी।
आज मुंबई निवासी हेमन्त शर्मा अपनी पत्नी अंजु कुकरेती शर्मा बच्चों सहित देहरादून से सुर्कण्डा माता के दर्शन कर वापस धनोल्टी स्थित इको पार्क मेँ बच्चों के आग्रह पर रुके औऱ वापस देहरादून को टेक्सी से चले परन्तु आधे घण्टे के अंतराल मेँ एक फोन बार बार हेमंत शर्मा के मोबाइल पर आ रहा था औऱ आवाज भी स्पष्ट नहीं थी शर्मा जी ऐडवर्टाइजमेंट सोचकर टालते रहे परन्तु सही सिग्नल मिलने पर उनका लेडीज पर्स इको पार्क मेँ छूटने क़ी बात कही तों गाड़ी मेँ देखा तों वाकही उनकी पत्नी का पर्स वही छूट गया था। प्रवेश अरोड़ा व रवि आहूजा परिवारों ने वह बेग का एक एक सामान गिनकर *जिसमे पेन कार्ड , आधार कार्ड , दो ऐंटीम कार्ड व 16000 क़ी रकम* औऱ इत्यादि क़ी फोटो खींचकर पुलिस चौकी मेँ देने क़ी बात कही तभी अंजु शर्मा के भाई ने उनकी लोकेशन पूछी तों उन्होने उक्त घटना से अवगत कराया। आपकों बताते चले क़ी उनके भाई प्रदीप कुकरेती राज्य आन्दोलनकारी मंच के जिला अध्यक्ष हैै औऱ उन्होने अपनें सूत्रों से धनोल्टी पुलिस से सम्पर्क साधा औऱ पर्यटको से निवेदन किया कि वह चौकी से पर्स अपनें साथ ही मसूरी ले आये क्योंकि रास्ते मेँ जाम क़ी स्थिति से वापसी समय से सम्भव नहीं थी औऱ रात को पाला पढ़ने से दिक्कत होती।
दिल्ली निवासी पर्यटको *प्रवेश अरोड़ा व रवि आहूजा* ने पर्स लेकर मसूरी मिड टाऊन पहुंचकर फोन पर सम्पर्क किया जहा प्रदीप कुकरेती के राज्य आन्दोलनकारी साथी यूनियन लीडर *सुनील कुमार व पूरण जुयाल जी* ने वह पर्स/अमानत ली।
दोनों ने दोनों परिवारों का धन्यवाद दिया साथ ही प्रदीप कुकरेती व्यक्तिगत रूप से देहरादून मेँ मिलकर धन्यवाद दिया औऱ उनका फोटो भी साझा किया।
शर्मा परिवार ने माता सुर्कण्डा का धन्यवाद दिया औऱ सबने यही कहा ईमानदारी आज भी जिन्दा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.