देहरादून में अंतराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य बतौर मुख्य अतिथि एवं हंस फाउंडेशन की संस्थापक माता श्री मंगला आई लीड अंबेसडर फौर चेंज के रूप में उपस्थित हुई

Spread the love

देहरादून 08 मार्च: देहरादून के सर्वे प्रेक्षाग्रह में अंतराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय एक्शन एंड रिसर्च सोसाइटी देहरादून एवं आई लीड द्वारा आयोजित *मेरी भुली* नामक एक नए कार्यक्रम की शुरूआत की गईं। इस अवसर पर उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य बतौर मुख्य अतिथि एवं हंस फाउंडेशन की संस्थापक माता श्री मंगला आई लीड अंबेसडर फौर चेंज के रूप में उपस्थित हुई । कार्यक्रम की अध्यक्षता सोसाइटी के संरक्षक मसूरी विधायक गणेश जोशी द्वारा की गई ।
महिलाओ को स्वरोज़गार से जोड़ने के लिए सोसाइटी द्वारा एक नए कार्यक्रम की शुरूआत की गई, जिसमें देहरादून व मसूरी क्षेत्र के 15 महिला स्वंय सहायता समूहों को एक-एक परामर्शदाता दिया गया। साथ ही, जो महिलाएँ परामर्शदाता के रूप में इस अभियान से जुड़ी हैं, वो अपने-अपने कार्य क्षेत्र में उतकृष्ट कार्य कर रहीं है। जैसे डा0 मिनाक्षी उनियाल वरिष्ट स्त्री रोग विशेषज्ञ हैं व पूरे प्रदेश में अपनी सेवाएं दे चुकी हैं, मंशा खोसला ऑर्गैनिक ट्री नामक कंपनी की संस्थापक हैं, विजयश्री जोशी जी ’विरासत’ नामक प्रदर्शनी का आयोजन करती आ रहीं हैं। जिन समूहों को ये महिलाएं परामर्शदाता करेंगी, उनमें दस से पंद्रह बहनें जुड़ी हैं जो समूह में छोटी-छोटी बचत करती हैं और कुछ स्वरोज़गार भी कर रही हैं। जैसे दोने पत्तल, थैले, मसाले, अरसे व रोट बनाना ।
कार्यक्रम की मुख्य अतिथि राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा कि सामाजिक रूप से सशक्त महिलाओं का प्रतिशत देश में बहुत कम है व उनकी जिम्मेदारी बनती है कि अपने जैसी और महिलाओं के सशक्तिकरण में भागीदार बनें। उन्होने संस्था द्वारा की गई इस पहल की सराहना करी और सभी समूहों व परामर्शदाताओं को बधाई दी। विशिष्ट अतिथि माता मंगला ने बताया कि समाज में जागृति लाना भी हम महिलाओं की जिम्मेदारी बनती है और आईलीड के इस कार्यक्रम से प्रबुद्ध महिलाओं को यह जिम्मेदारी निभाने का एक मंच मिल रहा है।
मसूरी विधायक गणेश जोशी जी ने आशा जताई कि इस कार्यक्रम से स्वंय सहायता समूहों का सर्वागिंण विकास होगा।


आईलीड की संस्थापक नेहा जोशी ने कहा कि महिलाओं के सशक्तिकरण में महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित करने के विज़न से इस कार्यक्रम की शुरुआत की जा रही है । आइ लीड कार्यक्रम का प्रमुख उद्देश्य ही यही है कि किस तरह शिक्षित , सशक्त और अपने अपने कार्य क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य कर रही महिलाओं को मौक़ा दिया जाए अपने जैसी उन बहनों को हाथ पकड़ कर आगे बढ़ाने का जो अभी भी समाज में आर्थिक, सामाजिक लड़ाइयाँ लड़ रही हैं।
इस अवसर पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय एक्शन एंड रिसर्च सोसाइटी के सचिव रमेश जोशी, पंखुडी शर्मा, संध्या थापा, राजीव गुरूंग, वंदना बिष्ट, ज़िला पंचायत उपाध्यक्ष दीपक पुंडीर एवं ज्योति कोटिया मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.